close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नरेंद्र मोदी को दोबारा PM बनाना चाहते हैं ये बुजुर्ग, किसी ने छोड़ा जल, तो कोई कर रहा उपवास

जिले में एक बुजुर्ग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति इतनी आस्था है कि चुनाव के बाद से बुजुर्ग खाना पानी छोड़ते हुए उपवास पर बैठ गया है. बुजुर्ग का कहना है कि जब तक देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार नहीं बनती है तब तक वह उपवास पर रहेंगे. 

नरेंद्र मोदी को दोबारा PM बनाना चाहते हैं ये बुजुर्ग, किसी ने छोड़ा जल, तो कोई कर रहा उपवास
देवव्रत शुक्ल का कहना है कि जब तक चुनाव की मतगणना नहीं हो जाती और जब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बन जाते तब तक अन्न जल ग्रहण नहीं करेंगे.

संतकबीर नगर : लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections Result 2019) के नतीजों की गिनती शुरू होने में कुछ ही समय बचा हुआ है. जैसे-जैसे मतगणना का समय नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे राजनेताओं की धड़कनें तेज हो रही हैं. वहीं, दूसरी तरफ एग्जिट पोल के नतीजे आने के बाद सत्ताधारी बीजेपी (BJP) और विपक्ष हर जगह हलचल मची हुई है. वहीं, इसी बीच उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर जिले से एक ऐसी आई है, जो वोटों की गिनती की उत्सुकता को जाहिर करती है. 

बुजुर्ग ने रखा है पीएम मोदी ने लिए उपवास
जिले में एक बुजुर्ग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narndra modi) के प्रति इतनी आस्था है कि चुनाव के बाद से बुजुर्ग खाना पानी छोड़ते हुए उपवास पर बैठ गया है. बुजुर्ग का कहना है कि जब तक देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार नहीं बनती है तब तक वह उपवास पर रहेंगे. 

एक बुजुर्ग त्याग चुके हैं जल
आपको बता दें कि ऐसी एक बानगी संत कबीर नगर जिले के कौवाताड गांव में देखने को मिली जहां के रहने वाले 80 वर्षीय बुजुर्ग देवराज शुक्ला को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति इतनी आस्था जगी कि वह 12 मई को मतदान करने के बाद अन्य जल त्याग कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए उपवास पर बैठ गए बुजुर्ग देवव्रत शुक्ल का कहना है कि जब तक चुनाव की मतगणना नहीं हो जाती और जब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बन जाते तब तक अन्न जल ग्रहण नहीं करेंगे. बुजुर्ग ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उनके प्रति आस्था है और वह देश में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं.