उपचुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, पूर्व सांसद राजकुमारी रत्ना सिंह ने थामा BJP का दामन

पहले राजकुमारी रत्ना के भाजपा में शामिल होने का कार्यक्रम लखनऊ में था, लेकिन इस बीच विधानसभा उपचुनाव की सरगर्मी बढ़ने से इसमें बदलाव किया गया.

उपचुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, पूर्व सांसद राजकुमारी रत्ना सिंह ने थामा BJP का दामन
राजकुमारी रत्ना पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय राजा दिनेश सिंह की बेटी हैं.

प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कांग्रेस (Congress) को एक और बड़ा झटका लगा है. प्रतापगढ़ (Pratapgarh) की पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता राजकुमारी रत्ना सिंह (Ratna Singh) आज (15 अक्टूबर) को  भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गईं. जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की. 

दरअसल, प्रतापगढ़ के गड़वारा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की चुनावी जनसभा में ये सार्वजनिक घोषणा हुई. पहले राजकुमारी रत्ना के भाजपा में शामिल होने का कार्यक्रम लखनऊ में था, लेकिन इस बीच विधानसभा उपचुनाव की सरगर्मी बढ़ने से इसमें बदलाव किया गया.

आपको बता दें कि राजकुमारी रत्ना सिंह पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय राजा दिनेश सिंह की बेटी हैं. राजा दिनेश सिंह प्रतापगढ़ से चार बार और उनकी पुत्री राजकुमारी रत्ना सिंह तीन बार 1996, 1999 और 2009 में सांसद रह चुकी हैं. रत्ना सिंह का परिवार शुरू से ही कांग्रेसी रहा है. इनके परिवार में रामपाल सिंह कांग्रेस के संस्थापक सदस्य थे.

लाइव टीवी देखें

पिता राजा दिनेश सिंह कांग्रेस की सरकार में विदेश मंत्री रहे. वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के बहुत करीबी थे. इसके चलते नेहरू-गांधी परिवार उनको बहुत महत्व देता था. बिना सांसद रहे भी उन्हें मंत्री बनाया गया था. अचानक राजकुमारी रत्ना के कांग्रेस से नाता तोड़ने के फैसले पर प्रदेश कांग्रेस हतप्रभ है.