Dharmantaran Racket: टेरर एंगल से जांच कर रही ATS, एक आतंकी की लोकेशन डिटेल मांगी गई

यूपी एटीएस ने खुफिया एजेन्सियों से इस आंतकी संगठन के एक आंतकी के लोकेशन की भी डिटेल मांगी है. क्योंकि बाताया ये जा रहा है कि आबिद नाम के इस आंतकी को ही मिशन डासना की जिम्मेदारी दी गई थी.

Dharmantaran Racket: टेरर एंगल से जांच कर रही ATS, एक आतंकी की लोकेशन डिटेल मांगी गई

अनुज मिश्रा\ लखनऊ: यूपी में धर्मांतरण रैकेट के तार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई  से जुड़ता देख एटीएस मामले में टेरर एंगल की जांच भी कर रही है. एक आंतकी संगठन को लेकर यूपी एटीएस ने खुफिया एजेन्सियों से संपर्क साधा है. दरअसल, इस आंतकी संगठन ने अप्रैल में पाकिस्तान में एक खास मिशन तैयार किया था. इसका मकसद धार्मिक उन्माद फैलाने के साथ कट्टरता को भी बढ़ावा देना था.

इसके लिए बाकायदा प्लानिंग की गई थी और इसकी शुरुआत गाज़ियाबाद डासना देवी मंदिर से होनी थी. लेकिन सुरक्षा एजेन्सियों की मुस्तैदी ने इस मिशन को कामयाब नहीं होने दिया. विपुल विजयवर्गीय और कासिफ अपना नाम बदलकर मंदिर में दाखिल होने की कवायद में थे जिसके बाद उन्हें पकड़ा गया. इनके पास से 6 ब्लेड और कुछ संदिग्ध सामान मिले थे. इनसे पूछताछ के बाद ही धर्मांतरण रैकेट का पर्दाफाश हुआ.

एक आतंकी की लोकेशन डिटेल मांगी गई 
सूत्रों की मानें तो इसी यूपी एटीएस ने खुफिया एजेन्सियों से सम्पर्क साधा है और यह पता लगाने की कोशिश हो रही है कि कहीं धर्मांतरण रैकेट के तार पाकिस्तानी आंतकी संगठन से तो नहीं जुड़े हैं. यूपी एटीएस ने इस आंतकी संगठन के सदस्य आबिद की लोकेशन डिटेल मांगी है. बाताया जा रहा है कि आबिद नाम के इस आंतकी को ही मिशन डासना की जिम्मेदारी दी गई थी. उसकी आखिरी लोकेशन पुलवामा के आस-पास की मिली थी. इसके चलते नोएडा डेफ सोसायटी के स्टाफ का भी कश्मीर कनेक्शन खंगाला जा रहा है.

लखनऊ से संचालित संस्था का है पदाधिकारी
वहीं धर्मांतरण के मामले में पकड़े गए उमर गौतम से जुड़ा एक और बड़ा खुलासा हुआ है. उमर गौतम लखनऊ से संचालित हो रही एक और संस्था का पदाधिकारी है. लखनऊ की अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का वाइस प्रेसिडेंट है. दसवीं तक सीबीएसई बोर्ड के इस स्कूल में 500 बच्चों को निशुल्क शिक्षा देने का भी दावा किया जा रहा है. 

एटीएस के रडार पर हैं ये 7 मेंबर 
इस स्कूल को 9 हजार स्क्वायर मीटर जमीन खरीद कर खोला गया है. इसके अलावा हरदोई के रसूलपुर इलाके में भी संस्था गर्ल्स स्कूल चला रही है. यूपी एटीएस के रडार पर आए अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन में इकबाल अहमद नदवी संस्था का अध्यक्ष, उमर गौतम उपाध्यक्ष, नजीबुल हसन सचिव अब्दुल हाई, मुहीब-ए-आलम, आमना रिजवान और मुशीर अहमद सदस्य हैं

UP News: बेसिक शिक्षा विभाग में 3 साल से एक ही जगह पर जमे कर्मियों का होगा ट्रांसफर

18 साल बाद पकड़ा गया बावरिया गिरोह का शातिर बदमाश, लूट को अंजाम देने से पहले करते थे ये काम

Cobra पर भारी पड़ गई चुहिया, विश्वाश ना हो तो देखें VIRAL VIDEO

WATCH LIVE TV