मथुरा: रिश्वतखोरी का आरोप लगाकर थाने के बाहर धरने पर बैठे BJP विधायक

विधायक ने आरोप लगाया कि पुलिस थाने में रिश्वत के बिना कोई काम नहीं होता और थाना प्रभारी एवं दोनों उपनिरीक्षक अक्सर लोगों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं.

मथुरा: रिश्वतखोरी का आरोप लगाकर थाने के बाहर धरने पर बैठे BJP विधायक

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक पुलिस थाने में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ रविवार को एक भाजपा विधायक धरने पर बैठ गया.बलदेव क्षेत्र से विधायक पूरन प्रकाश शाम चार बजे से महाबन पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठ गए. प्रकाश ने आरोप लगाया, ‘‘पूरा पुलिस थाना भयानक भ्रष्टाचार की गिरफ्त में है.’’ उन्होंने कहा कि जब तक थाना प्रभारी अरविंद पाल, उप निरीक्षकों अरविंद चौहान एवं अजय हवाना को निलंबित नहीं किया जाता और पुलिस थाने के सभी कर्मचारियों का तबादला नहीं होता तब तक धरना जारी रहेगा.

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस थाने में रिश्वत के बिना कोई काम नहीं होता और थाना प्रभारी एवं दोनों उपनिरीक्षक अक्सर लोगों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं. बता दें, योगी राज में विधायकों की शिकायत रही है कि अधिकारी उनकी नहीं सुनते हैं. विधायकों का कहना है कि पुलिस और प्रशासन के अधिकारी के पास जब वे किसी तरह की शिकायत लेकर पहुंचते हैं तो उनकी नहीं सुनी जाती है.

आरक्षण को पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाना चाहिए: स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती

शायद इन्हीं वजहों से पिछले दिनों सीएम योगी ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से साफ-साफ कहा था कि कोई भी अधिकारी अगर ऐसा सोच रहे हैं कि उनके खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा सकती है तो गलत सोच रहे हैं. हमें जनता चुनकर लाई है. इसलिए, अगर लोगों के कामों में रुकावट आएगी तो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

(इनपुट-भाषा)