वाराणसी: NIA ने ISI एजेंट राशिद के घर मारा छापा, मिले कुछ अहम दस्तावेज और मोबाइल

NIA ने रविवार को उत्तर प्रदेश के चंदौली और वाराणसी में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के एक एजेंट के घर छापेमारी की. मोहम्मद राशिद नाम के इस एजेंट को यूपी एटीएस ने जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था.

वाराणसी: NIA ने ISI एजेंट राशिद के घर मारा छापा, मिले कुछ अहम दस्तावेज और मोबाइल
प्रतीकात्मक फोटो

वाराणसी: NIA ने रविवार को उत्तर प्रदेश के चंदौली और वाराणसी में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के एक एजेंट के घर छापेमारी की. मोहम्मद राशिद नाम के इस एजेंट को यूपी एटीएस ने जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था. मोहम्मद राशिद पर देश में सीआरपीएफ के ठिकानों की जासूसी और सामरिक तौर पर अहम जानकारी को पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स को भेजने का आरोप है. 

वाराणसी और चंदौली में मारा गया छापा
NIA की टीम ने मोहम्‍मद राशिद के चंदौली और वाराणसी स्थित घरों पर छापा मारा. तलाशी के दौरान राशिद के घर से मोबाइल फोन और कुछ आपत्तिजनक दस्‍तावेज भी बरामद हुए हैं. राशिद के साथ पूछताछ अभी जारी है. NIA इन दस्तावेजों और मोबाइल के आधार पर ये जानने में जुटी है कि उसकी तरह कुछ और लोग भी ISI के लिए जासूसी में तो नहीं शामिल हैं. 

ये भी देखिए: बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़े को लेकर सख्त हुई सरकार, आज से मंडलवार समीक्षा

पाकिस्तान में ट्रेनिंग ले चुका है राशिद
राश‍िद को 19 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था. उस पर भारतीय दंड संह‍िता तथा गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था. अधिकारियों ने बताया कि राशिद पाकिस्‍तान में बैठे अपने हैंडलर्स के सीधे संपर्क में था. राशिद भारत में रहकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करता था. जासूसी की ट्रेनिंग लेने वो दो बार पाकिस्‍तान भी जा चुका है. उसकी ओर से दिए गए भारत के नंबर से दरअसल ISI व्हाट्सऐप अकाउंट चला रही थी. राशिद उन्हें भारत के संवेदनशील और रणनीतिक महत्व की जानकारी और फोटो भेजता था. यूपी ATS ने उसे ऐसा करते हुए धर दबोचा था. 

WATCH LIVE TV