बेहद खुबसूरत है नैनीताल का सतरंगी वाटरफॉल, देखें दिलकश तस्वीरें

नैनीताल में झील तो बहुत हैं लेकिन सैलानियों को वाटरफॉल की कमी हमेशा से खलती रहती है. लेकिन, अब लेक डिस्ट्रिक ऑफ इंडिया में आप झीलों के साथ झरने का भी दीदार कर सकते हैं और झरना भी ऐसा जिसमें सतरंगी दीदार होते हैं.  

संदीप गुसाईं | Jan 08, 2020, 16:48 PM IST

देश के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक नैनीताल में आपने कई ताल देखे होंगे. नैनी झील, भीमताल, नौकुचियाल ताल और सात ताल की खूबसूरती देश विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ खींच लाती है. लेकिन, लेक डिस्ट्रिक ऑफ इंडिया में कमी थी तो बस एक झरने की तो अब आप झीलों के साथ झरने का दीदार भी कर सकते हैं और झरना भी ऐसा जिसमें सतरंगी दीदार होता है.

1/3

नैनीताल की खूबसूरती देश विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ खींच लाती है.

nainital being the most beautiful place for tourist

नैनीताल में दो झरने हैं एक कॉर्बेट और दूसरा भालुगाड झरना. मुक्तेश्वर से करीब 20 किमी की दूरी पर खूबसूरत भालुगाड वाटरफॉल है. बरसात में इस झरने में काफी पानी होता है. भालुगाड वाटरफॉल की देखरेख तीन गांव चौखुटा, गजार और बुरांसी की एक समिति करती है. इस वाटरफॉल की खूबसूरती के साथ आपको कुमाऊं की ग्रामीण पर्यटन की झलकियां भी दिखाई देती हैं. भालुगाड वाटरफॉल विकास समिति के सचिव पूरण सिंह बिष्ट ने कहा कि झरना से जो पानी निकलती है. उसे 3 जगह पार करना पड़ता है और मात्र एक ही जगह पर पुल बना है.

2/3

वाटरफॉल की खूबसूरती के साथ आपको कुमाऊं की ग्रामीण पर्यटन की झलकियां भी दिखाई देती हैं.

tourist coming to see satrangi waterfall

भालुगाड झरना अपने आप में खास है इसमें इंद्रधनुष के रंग दिखाई देते हैं. सूरज की किरणें जैसे जैसे ऊपर जाती हैं, झरने पर इंद्रधनुष भी ऊपर की तरफ बढ़ता रहता है. भालुगाड वाटरफॉल में अभी बड़ी संख्या में सैलानी पहुंच रहे हैं. हालांकि, अभी यहां मूलभूत सुविधाएं विकसित किये जाने की जरूरत है. पर्यटन विभाग ने इस झरने को 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन योजना में शामिल किया है. सैलानियों को ये झरना किसी सपने जैसा लगता है. 

 

3/3

भालुगाड झरने तक पहुंचने के लिए आपको पहले मुक्तेश्वर जाना होगा.

to reach balugad waterfall you need to come mukteshwar first

भालुगाड झरने तक पहुंचने के लिए आपको पहले मुक्तेश्वर जाना होगा. वहां से आप भालुगाड वाटर फॉल आसानी से जा सकते हैं. हर दिन बड़ी संख्या में सैलानी इस झरने को देखने के लिए आ रहे हैं. स्थानीय पर्यटक भी इस झरने को देख कर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं.