Positive Pay System: 1 जनवरी से लागू होंगे चेक पेमेंट के नए नियम, जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

RBI ने सभी बैकों को निर्देश दे दिए हैं कि 1 जनवरी 2021 से लागू होने वाले चेक पेमेंट के नए नियमों की सारी जानकारी ग्राहकों तक जल्द से जल्द पहुंचा दी जाए. 

Positive Pay System: 1 जनवरी से लागू होंगे चेक पेमेंट के नए नियम, जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें
सांकेतिक तस्वीर.

नई दिल्लीः रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बढ़ते बैंकिंग फ्रॉड को रोकने के लिए एक और अहम कदम उठाया है. 1 जनवरी 2021 से चेक पेमेंट (Cheque Pament) के नियम बदल जाएंगे. नए नियमों के मुताबिक अब आपको 50 हजार रुपये के चेक पेमेंट पर पॉजिटिव पे (Positive Pay) का सिस्टम फॉलो करना होगा. ताकि बड़े भुगतान वाले सभी चेक्स (Cheques) को बैंक दोबारा से रीचेक कर सके, जिससे धोखाधड़ी को रोका जा सके. 

VIDEO: 2020 ने इन्हें भी नहीं बख्शा, देखिए कैसे औंधे मुंह गिर गए Santa

बैंक करेंगे कस्टमर्स को जागरूक
RBI ने सभी बैकों को निर्देश दे दिए हैं कि 1 जनवरी 2021 से लागू होने वाले चेक पेमेंट के नए नियमों की सारी जानकारी ग्राहकों तक जल्द से जल्द पहुंचा दी जाए. इसके लिए सभी सरकारी और प्राईवेट बैंक अपने कस्टमर्स को SMS अलर्ट, ब्रांचों में डिस्प्ले, एटीएम, वेबसाइट और ऑनलाइन बैंकिंग (Online banking) के जरिए पॉजिटिव पे सिस्टम के फीचर की जानकारी देंगे.

इन 10 शहरों में बनेंगी PRD कंपनी, पहले चरण में 1,050 जवानों की होगी भर्ती  

जानें क्या है पॉजिटिव पे सिस्टम?
पॉजिटिव पे सिस्टम (Positive pay system) एक ऐसा टूल होता है, जो ऑटोमेटेड फ्रॉड (Automated fraud) का पता लगाता है. ताकि ऑनलाइन फ्रॉड से बचा जा सके. इसके लिए RBI ने पॉजिटिव पे सिस्टम को और अपग्रेड करवाया है. 1 जनवरी 2021 से पॉजिटिव पे सिस्टम के अपग्रेडेड वर्जन के तहत ही नए नियमों को लागू कराया जा रहा है. यह सिस्टम अब ग्राहक को चेक पेमेंट(Cheque Payment) में होने वाले फ्रॉड से बचाएगा. 

IDBI Bank Recruitment: ग्रेजुएट के लिए है नौकरी का मौका, जल्द करें आवेदन नहीं तो निकल जाएगी तारीख

दोबारा देनी होगी डिटेल्स
नए नियम के अनुसार, जो व्यक्ति चेक जारी करेगा, उन्हें इले​क्ट्रॉनिक माध्यम से चेक की तारीख, लाभार्थी का नाम, प्राप्तकर्ता (Payee) और पेमेंट की रकम, अकाउंट नंबर आदि के बारे में दोबारा जानकारी देनी होगी, जिसके बाद बैंक पूरी जानकारी को दोबारा चेक करेगा. अगर उसमें सभी जानकारी सही होगी तो ही चेक अप्रूव किया जाएगा. अगर जानकारी मैच नहीं होगी, तो बैंक चेक रिजेक्ट कर देगा. बता दें कि चेक जारी करने वाला व्यक्ति यह जानकरी SMS, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या ATM जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से दे सकता है.

VIDEO: घर के बाहर खड़ी बाइक ले उड़े बदमाश, घटना CCTV में हुई कैद

कैसे काम करेगा नया सिस्टम?
नए नियमों के अनुसार 50 हजार रुपये से ऊपर के चेक पेमेंट के जो डिटेल दोबारा मांगी जाएगी. वो डिटेल सेंट्रालाइज्ड पॉजिटिव पे सिस्टम में अपलोड होंगी. जिसके बाद यह चेक जब बैंक को मिलेगा, बैंक इस चेक को वेरिफाई करेगा. अगर चेक की सारी डिटेल दोबारा दी गई जानकारी से मैच हो जाएगी तो ही बैंक इस चेक का पेमेंट करेगा. लेकिन अगर चेक की डिटेल मेच नहीं हुई तो बैंक पेमेंट रोक देगा. यानि यह सिस्टम चेक पेमेंट को क्रॉस चेक कर सुरक्षित करेगा. ताकि ऑनलाइन बैंकिग में धोखाधड़ी न हो सके. यह नियम नए साल से लागू हो जाएंगे.

VIDEO: 95 साल की जिमनास्ट के ऐसे मूव देख उड़ जाएंगे होश

WATCH LIVE TV