VIDEO: CAA विरोधी हिंसा के बाद अलीगढ़ के हिंदुओं में खौफ, घरों पर लगे 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर

लोगों का कहना है कि इलाके में अब उन्हें असुरक्षित महसूस होता है. इसके चलते वे अपना घर छोड़कर जाना चाहते हैं. बाबरी मंडी के हिंदू समुदाय के कुछ लोगों ने अपने घरों पर 'यह मकान बिकाऊ  है' के पोस्टर लगा लिया है.

VIDEO: CAA विरोधी हिंसा के बाद अलीगढ़ के हिंदुओं में खौफ, घरों पर लगे 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर
बाबरी मंडी में घरों के बाहर 'यह घर बिकाऊ है' के पोस्टर लगने शुरु हो गए

अलीगढ़: अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में बीते रविवार को ऊपरकोट मस्जिद के बाहर हुए पथराव, फायरिंग और आगजनी के बाद वहां के हिंदुओं में खौफ का माहौल है. अलीगढ़ के बाबरी मंडी इलाके के हिंदू घरों के बाहर 'यह मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगने शुरू हो गए हैं. स्थानीय हिन्दू समुदाय के लोगों का कहना है कि 23 फरवरी को इलाके में एक विशेष समुदाय द्वारा पथराव और फायरिंग की गई थी. लोगों का कहना है कि इस तरह की घटना पहली बार नहीं हुई, बीते वर्षों में एक विशेष समुदाय की ओर से कई बार ऐसी डराने वाली घटनाएं हो चुकी हैं. इसको लेकर स्थानीय हिंदू समुदाय के लोगों में भय व्याप्त है.

लोगों का कहना है कि इलाके में अब उन्हें असुरक्षित महसूस होता है. इसके चलते वे अपना घर छोड़कर जाना चाहते हैं. बाबरी मंडी के हिंदू समुदाय के कुछ लोगों ने अपने घरों पर 'यह मकान बिकाऊ  है' के पोस्टर लगा लिया है. कुछ लोग तो अपने घरों पर ताला लगाकर बाहर जा भी चुके हैं. एक बुजुर्ग महिला ने बताया कि बवाल वाले दिन भागने के दौरान वह में गिर गईं, जिसके चलते उनका हाथ टूट गया.

अलीगढ़ के एसएसपी मुनिराज जी का इस बारे में कहना है कि बाबरी मंडी इलाके में स्थानीय लोगों से मुलाकात कर उन्होंने मोहल्ला कमिटी की मीटिंग बुलाई थी. इस मीटिंग में लोगों के बीच विश्वास बहाली की कोशिश की गई. स्थानीय बाजार को भी खुलवाया गया है. मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है. इलाके के हिंदुओं से मुलाकात कर एसएचओ ने उन्हें भरोसा दिलाया है.