close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेठी में लगी थी आग, नहीं पहुंचे अफसर तो स्मृति ईरानी ने डीएम को फटकारा

रविवार को अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी दोनों प्रचार में जुटे थे.

अमेठी में लगी थी आग, नहीं पहुंचे अफसर तो स्मृति ईरानी ने डीएम को फटकारा
फोटो साभारः ANI

अमेठी: रविवार को अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी दोनों प्रचार में जुटे थे. अमेठी से निकलते ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अप्रत्यक्ष रुप से प्रियंका पर अक्रोशित हो गईं. हुआ ये कि यहां मुंशीगंज थाना क्षेत्र के पश्चिम दुआरा गोवर्द्धन पुर गांव मे अज्ञात कारणों से लगी आग से किसानों की हजारों बीघा गेहूं की फसल जलकर खाक हो गई.इसकी सूचना पाकर स्मृति ईरानी मौके पर पहुंची, लोगों ने उनसे शिकायत किया कि सूचना के बाद भी एसडीएम मौके पर नहीं आए. यह सुनते ही ईरानी ने डीएम को फोन लगा दिया.

पता चला एसडीएम वीआईपी ड्यूटी पर हैं तो स्मृति नाराज हो गईं. उन्होंने कहा कि जनता की मदद से लोग वीआईपी बनते हैं. जनता की मदद पहले होनी चाहिए. गौरतलब हो कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी रविवार सुबह से ही अमेठी मे थी. वीआईपी प्रोटोकॉल के चलते प्रशानिक अमला उनके साथ लगा था, जिसकी कमान एसडीएम अमेठी के हाथें मे थी.

इस बीच करीब 11:30 बजे के आसपास मुंशीगज थाना क्षेत्र के पश्चिम दुआरा गोवर्धनपुर गांव मे किसानो के खेत मे अज्ञात कारणों से आग लग गई. हवा की रफ्तार तेज होने के चलते देखते ही देखते दर्जनों किसानों की हजारों बीघा गेहूं की फसल आग में जलकर खाक हो गई. ग्रामीणों ने इसकी सूचना फायर ब्रिगेड एवं प्रशासनिक अधिकारियों को दी.

उधर जब तक फायर ब्रिगेड टीम मौके पर पहुंचती तब केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी मौके पर पहुंच गई. फायर ब्रिगेड की टीम तो अपना काम करने लगी लेकिन मौके पर उच्च अधिकारी के न होने पर स्मृति ने सवाल कर लिया. पता चला की एसडीएम को सूचना दी गई है. पर वह मौके पर नहीं आए.

इसके बाद वह गुस्सा हो गईं और डीएम अमेठी को काल लगा दी. उन्होंने डीएम से कहा एसडीएम अमेठी को लोग तीन घंटे से फोन कर रहे हैं. मैं स्वयं यहां मौके पर खड़ी हूं, आग बुझाने मे मदद कर रही हूं. आपके एसडीएम से हमने आग्रह किया के लोगों के लिए पानी खाने की व्यवस्था करा दें. वो वहां आफिस मे बैठकर आराम फरमा रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री के पास टाइम होता है अपना चुनाव प्रचार कैंसिल कर के जनता की मदद मे खड़े रहने का. और एक ऑफिसर आराम फरमा रहा है. और लोग वीआईपी में लगे हैं. उन्होंने कहा कि जनता की मदद से लोग वीआईपी बनते हैं. जनता की मदद पहले होनी चाहिए.

उधर जब तक फायर ब्रिगेड टीम मौके पर पहुंचती तब केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी मौके पर पहुंच गई. फायर ब्रिगेड की टीम तो अपना काम करने लगी लेकिन मौके पर उच्च अधिकारी के न होने पर स्मृति ने सवाल कर लिया. पता चला की एसडीएम को सूचना दी गई है. पर वह मौके पर नहीं आए.

इसके बाद वह गुस्सा हो गईं और डीएम अमेठी को काल लगा दी. उन्होंने डीएम से कहा एसडीएम अमेठी को लोग तीन घंटे से फोन कर रहे हैं. मैं स्वयं यहां मौके पर खड़ी हूं, आग बुझाने मे मदद कर रही हूं. आपके एसडीएम से हमने आग्रह किया के लोगों के लिए पानी खाने की व्यवस्था करा दें. वो वहां आफिस मे बैठकर आराम फरमा रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री के पास टाइम होता है अपना चुनाव प्रचार कैंसिल कर के जनता की मदद मे खड़े रहने का. और एक ऑफिसर आराम फरमा रहा है. और लोग वीआईपी में लगे हैं. उन्होंने कहा कि जनता की मदद से लोग वीआईपी बनते हैं. जनता की मदद पहले होनी चाहिए.