UP Board Exam 2021: 10वीं और 12वीं की अंक सुधार परीक्षा आज से, केंद्रों के आस-पास लागू होगी धारा 144

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि परीक्षा केंद्र को जलभराव से मुक्त रखा जाए और सुगम आवागमन के लिए परिवहन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए

UP Board Exam 2021: 10वीं और 12वीं की अंक सुधार परीक्षा आज से, केंद्रों के आस-पास लागू होगी धारा 144
फाइल फोटो.

लखनऊ: यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट 2021 से असंतुष्ट स्टूडेंट्स के लिए अंक सुधार परीक्षा (UP Board Improvement Exam) करा रहा है. यह परीक्षा कल यानी 18 सितंबर से 6 अक्टूबर तक आयोजित की जाएगी. इसके लिए कुल 79,286 छात्र-छात्राएं रजिस्टर्ड हैं. इसी बीच सरकार ने आदेश जारी किया है कि अंक सुधार परीक्षा के दौरान एग्जामिनेशन सेंटर के आसपास धारा-144 लागू होगी.  

सरकार ने जारी किए ये निर्देश
गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि परीक्षा केंद्र को जलभराव से मुक्त रखा जाए और सुगम आवागमन के लिए परिवहन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. बता दें कि प्रदेश भर में परीक्षा 590 केंद्रों पर दो पालियों में होगी. वहीं, परीक्षा में नकल न हो इसलिए सभी सेंटरों पर सीसीटीवी लगाए जाएंगे.

UP Corona Update: बीते 24 घंटे में 17 नए मामले, एक्टिव केस 200 से कम

कब जारी होगा रिजल्ट (UP Board Improvement Exam Result 2021)
जानकारी के मुताबिक, कोरोना के चलते 3 घंटे की जगह 2 घंटे की परीक्षा होगी. पहली पाली की परीक्षा सुबह 8 से सवा दस बजे और दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो से सवा चार बजे तक होगी. 10वीं के एग्जाम 4 अक्टूबर और इंटरमीडिएट के एग्जाम 6 अक्टूबर को खत्म होंगे. एग्जाम में प्रश्नों की संख्या भी कम कर दी गई है. बता दें कि 2021 में हुई इंटरमीडिएट प्रैक्टिकल परीक्षा में अनुपस्थित रहे बच्चे आगामी प्रैक्टिकल परीक्षा में शामिल हो सकते हैं. लेकिन जो स्टूडेंट्स पिछले सत्र में प्रयोगात्मक परीक्षा दे चुके हैं उन्हें दोबारा या परीक्षा देने की अनुमति नहीं होगी. उनके पुराने नंबर ही जोड़े जाएंगे. 2020-21 के सत्र में ही इसका रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा. 

PM Modi के जन्मदिन पर 'बुलेट रानी' ने हाथों से खींचा 9.5 टन का ट्रक, देखें VIDEO

रिजल्ट से नाखुश थे कई स्टूडेंट्स 
कोरोना के चलते इस सत्र में यूपी बोर्ड की परीक्षाएं नहीं हो सकी थीं. एक फार्मूले के जरिए यूपी बोर्ड के 56 लाख परीक्षार्थियों का रिजल्ट जारी किया गया था, लेकिन इस परीक्षा परिणाम से तमाम परीक्षार्थी नाखुश थे. इसको देखते हुए यूपी बोर्ड ने उन्हें अपने अंक सुधार करने के लिए एक और मौका दिया है. इस परीक्षा के बाद मिले नंबरों को ही फाइनल माना जाएगा और पुराने अंक खारिज कर दिए जाएंगे. 

WATCH LIVE TV