दिशा मर्डर: अज्ञात शातिरों का ‘बचाव’ पकड़ में आया

दिशा की मां का विवादास्पद बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि ये आत्महत्या भी हो सकती है और एक दुर्घटना भी. हैरानी की बात है जब दिशा सालियान हत्या का मामला खुल कर सामने आने लगा तो अचानक दिशा के परिवार के बयान आने लगे सामने. सवाल ये है कि दो माह बाद अचानक ये बयान दिशा के परिवार-जन खुद दे रहे हैं या उनसे दिलवाये जा रहे हैं?  

दिशा मर्डर: अज्ञात शातिरों का ‘बचाव’ पकड़ में आया

नई दिल्ली.   मुंबई पुलिस ने भी दिशा के हत्यारों को बचाने के लिए पूरा होमवर्क किया हुआ है. शुरू से उसकी हत्या को आत्महत्या कह कर खारिज कर देने वाली मुंबई पुलिस पर्दे के पीछे से अब दिशा के परिवारजनों को 'काम के' बयान देने के लिए मजबूत कर रही हो सकती है. लेकिन ये होमवर्क नाकाम हो गया है.

 

मां का बयान आया सामने

दो माह से रहस्य्मय ढंग से चुप था दिशा का परिवार. आठ जून को हत्या हुई थी दिशा के परिवार की और उसकी हत्या को मुंबई पुलिस द्वारा आत्महत्या करार दिए जाने के बाद से दिशा का परिवार चुप था या चुप रहने को मजबूर था. अब दिशा की मां वासंती सालियान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ''(दिशा को लेकर जो भी कुछ कहा जा रहा है) सबकुछ झूठ है। सभी थ्योरी और कहानियां झूठी हैं और सब अफवाह है. मेरा अनुरोध है कि ये सब अब बंद किया जाए.''

'बेटी को बदनाम न करें'

सारे देश की सहानुभूति दिवंगत दिशा के साथ है और अब तक किसी ने भी दिशा के लिए कुछ बुरा बोल कर उसको बदनाम करने की हरकत नहीं की है ऐसे में दिशा के पिता सतीश सालियान और मां वसंती सालियान ने कहा है कि उनकी बेटी को बदनाम ना किया जाए. क्या दिशा के माता-पिता को क्या ऐसा कहने के लिए मजबूर किया जा रहा है?

 

बयान दिलवा कर लीपापोती की कोशिश

पूरी संभावना है कि दिशा सालियान की हत्या के बाद अब तक खामोश रखे गए दिशा के माता-पिता अब पहली बार मीडिया के सामने बयान देने के लिए तैयार किये गए हैं. ख़ास बात ये है कि कल दिशा की पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट सामने आई है और उसके एक दिन पहले दिशा की माता जी का इंटरव्यू सामने आया. ये कोशिश पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट के सामने आने के बाद उठने वाले 'सवालों' और 'लीपापोती' की कलई खुलने के पहले की तैयारी है.

दिशा की मां का 'विवादास्पद' बयान

दिशा की मां वसंती बालियान ने इस इन्टर्व्यू में कहा कि उन्होंने पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट देखी है और वे मुंबई पुलिस के काम से संतुष्ट हैं. मुंबई पुलिस सही दिशा में जांच कर रही है. उन्होंने ये भी कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध करती हूं कि ये सब अब बन्द किया जाये.

कच्चा था ‘होमवर्क’

लीपापोती का ये होमवर्क कच्चा था. तीन बिन्दुओं पर सीधी तौर पर पकड़ में आ गया है. सबसे पहले सबसे बड़ी बात ये कि यदि माता-पिता ने पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट देखी है तो क्या वे निर्वस्त्र शव मिलने की बात नहीं पढ़ सके ? यदि शव निर्वस्त्र मिला तो ये आत्महत्या कैसे हो सकती है? क्या दिशा के माता-पिता इस बात को समझा सकते हैं?

मुंबई पुलिस का ‘बचाव’ पकड़ में आया

जब दिशा का निर्वस्त्र शरीर देख कर भी मुंबई पुलिस ने उसे आत्महत्या कह कर उसकी फाइल बन्द कर दी तो दुनिया की कौन से माता-पिता इस बात पर विश्वास कर सकती है. और बाद में मुंबई पुलिस ने दिशा की मौत से जुड़े सभी डिजिटल दस्तावेजों की फाइल भी डिलीट कर दी – ऐसे में उपरोक्त दोनो आपराधिक कृत्य करने के बाद भी दिशा की मां कैसे कह सकती हैं कि वे मुंबई पुलिस पर विश्वास करती हैं और मुंबई पुलिस सही काम कर रही है? 

ये भी पढ़ें. दिशा मर्डर: ये मुंबई पुलिस का शातिर भ्रष्टाचार है या निर्दयी संवेदनहीनता?