उद्धव की राहुल को चुनौती

किसानों की मौत से कांग्रेस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार बुरी तरह से घिर गई है

Updated: Aug 12, 2011, 11:56 AM IST

पुणे में किसानों पर हुए गोलीबारी पर राज्य सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए शिवशेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने राहुल गांधी को खरी- खरी सुनाया है.

इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी पर सीधे हमला करते हुए ठाकरे ने कहा, ' राहुल गांधी ने कभी इस क्षेत्र का दौरा नहीं किया. बस वह एक बार यहां पैराग्लाइडिंग करने के लिए आए थे. अब राहुल गांधी कहां हैं ? वैसे तो वह यूपी में नौटंकी यात्राएं करते रहते हैं, उन्हें यहां आकर इस मुद्दे की सचाई का पता लगाना चाहिए. '

वहीं विपक्ष अब पूरे फॉर्म में है और पुलिसवालों की गिरफ्तारी के साथ-साथ गृहमंत्री आर. आर. पाटिल की बर्खास्तगी की मांग कर रहा है. पुणे में अंडरग्राउंड वाटर पाइपलाइन प्रॉजेक्ट के विरोध के दौरान पुलिस की फायरिंग से 3 किसानों की मौत से कांग्रेस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार बुरी तरह से घिर गई है.

इस मामले में पुलिस और सरकार ने कहा था कि आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी, जबकि विडियो फुटेज से साफ है कि मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे से नीचे भाग रहे किसानों पर पुलिस निशाना साधकर गोलियां चला रही है. सरकार और पुलिस का झूठ उजागर होने के बाद विपक्ष और आक्रामक हो गया है.

पिछले दिनों 9 अगस्त को पुणे के निकट मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर किसानों और पुलिस के बीच टकराव हुआ था, जिसमें पुलिस की गोली से तीन किसानों की मौत हो गई थी. तब पुलिस की ओर से कहा गया था कि किसानों द्वारा पुलिस पर भीषण पथराव के कारण स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी. पुलिस के अलावा राज्य के गृहमंत्री आर.आर. पाटिल ने भी गुरुवार को यह कहकर मामले को रहस्यमय बना दिया था कि गोलीबारी की शुरुआत एक इंडिका कार से हुई, जिसके बाद पुलिस को भी गोली चलानी पड़ी.

अब विडियो फुटेज सामने आने के बाद यह स्पष्ट हो गया कि पुलिस और गृहमंत्री दोनों झूठा बयान दे रहे हैं. इसके बावजूद सरकार अपनी बात पर अड़ी है कि पुलिस को गोलियां आत्मरक्षा में चलानी पड़ी थी.