dear zindagi

डियर जिंदगी : जिन्‍हें अब तक माफ न कर पाए हों...

डियर जिंदगी : जिन्‍हें अब तक माफ न कर पाए हों...

किसी को माफ करने के लिए हमें उस पर निर्भर नहीं रहना. ऐसे तो हम जीवन के सूत्र दूसरों के पास गिरवी रख देंगे. माफ करने को स्‍वभाव बनाना है. यह खुद को सुखी करने का रास्‍ता है, जो हमें चुनना है.

Nov 20, 2018, 08:00 AM IST
डियर जिंदगी: आत्‍महत्‍या और मन का 'रेगिस्‍तान'!

डियर जिंदगी: आत्‍महत्‍या और मन का 'रेगिस्‍तान'!

हम ‘इग्‍नोर’ करना भूल गए. छोटी-छोटी बात ‘दिल से’ लगाए घूमते रहते हैं. एक-दूसरे को बर्दाश्‍त करना, सुन लेना, सहन करना जैसे गुण जीवनशैली से गायब होते जा रहे हैं.

Nov 19, 2018, 08:51 AM IST
डियर जिंदगी: जब मन का न हो...

डियर जिंदगी: जब मन का न हो...

तुलना से बचना, मुश्किल में अपने ऊपर भरोसा रखना एक कला है, जिसके भीतर जितना धैर्य, साहस, भरोसा होगा, वह इस कला का उतना ही बेहतर उपयोग कर पाएगा...

Nov 16, 2018, 08:45 AM IST
डियर जिंदगी: गुस्‍से का आत्‍महत्‍या की ओर मुड़ना!

डियर जिंदगी: गुस्‍से का आत्‍महत्‍या की ओर मुड़ना!

सड़क हादसे अक्‍सर दिमाग में चल रहे ऐसे स्‍पीड ब्रेकर का परिणाम होते हैं, जिनका जन्‍म घर, रिश्‍तों की टकराहट से होता है.

Nov 15, 2018, 07:59 AM IST
डियर जिंदगी: अतीत की छाया और रिश्‍ते!

डियर जिंदगी: अतीत की छाया और रिश्‍ते!

जितना संभव हो खुद को, अपने फैसले और दृष्टिकोण को, अतीत की छाया से बचाएं. उससे कुछ सबक जरूर सीखे जा सकते हैं, लेकिन उसके अनुभव से चिपके नहीं रहा जा सकता.

Nov 14, 2018, 08:14 AM IST
डियर जिंदगी: अतरंगी सपने!

डियर जिंदगी: अतरंगी सपने!

अतरंगी सपने ही असल में हमारे हैं. वही हमें हमारे होने का बोध कराते हैं. ऐसे सपनों की महक को अपने भीतर खोजना, उनके लिए पागल हुए बिना अपने होने को हासिल नहीं किया जा सकता!

Nov 13, 2018, 08:07 AM IST
डियर जिंदगी: अकेलेपन की सुरंग और ‘ऑक्‍सीजन’!

डियर जिंदगी: अकेलेपन की सुरंग और ‘ऑक्‍सीजन’!

हरियाली के बीच मन में उदारता, दूसरों की सहायता की भावना बढ़ने के साथ ब्‍लड-प्रेशर, अवसाद से लड़ने की शक्ति मिलती है. 

Nov 12, 2018, 08:18 AM IST
डियर जिंदगी : दीपावली की तीन कहानियां और बच्‍चे…

डियर जिंदगी : दीपावली की तीन कहानियां और बच्‍चे…

असल में अंतर एक-एक कदम से ही पड़ता है! हम सब मिलकर ही दुनिया को बेहतर, बदतर बनाते हैं. हमारी हवा, पानी जैसे भी हैं, सबमें हमारी भूमिका है!

Nov 9, 2018, 08:24 AM IST
डियर जिंदगी : ऐसे ‘दीपक’ जलाएं…

डियर जिंदगी : ऐसे ‘दीपक’ जलाएं…

जिंदगी को रास्‍ता बनाना आता है, बस आप नाविक की तरह तूफान में पतवार थामे रहें.

Nov 7, 2018, 10:05 AM IST
डियर जिंदगी : कितने ‘दीये’ नए!

डियर जिंदगी : कितने ‘दीये’ नए!

बच्‍चों की परवरिश, संस्‍कार जरूरी हैं, लेकिन यह काम उनके मन की कोमलता, सुंदरता, उदारता की कीमत पर नहीं होना चाहिए. ये सबसे अनमोल गुण हैं. बच्‍चों की परिवरिश में उनके साथ होने वाली हिंसा, उन पर थोपी जाने वाली जिद, जिंदगी के कुछ ऐसे अंधेरे हैं, जो हर दिवाली के साथ गहराते जा रहे हैं.

Nov 6, 2018, 08:02 AM IST
डियर जिंदगी: दूसरे के हिस्‍से का ‘उजाला’!

डियर जिंदगी: दूसरे के हिस्‍से का ‘उजाला’!

कभी-कभी अनजाने ही हम कठोर, अनुदार और हिंसक दुनिया गढ़ने में सहभागी होते जाते हैं.

Nov 5, 2018, 08:19 AM IST
डियर जिंदगी: जो मेरे घर कभी नहीं आएंगे...

डियर जिंदगी: जो मेरे घर कभी नहीं आएंगे...

दुनिया छोटी कोशिश के मरहम का नाम है, इससे ही जिंदगी को रास्‍ते मिलते हैं. 

Nov 2, 2018, 09:01 AM IST
डियर जिंदगी : उसके ‘जैसा’ कुछ नहीं होता!

डियर जिंदगी : उसके ‘जैसा’ कुछ नहीं होता!

कोई किसी के जैसा नहीं होता! हम किसी का पूरा सच नहीं जानते, इसलिए उसके जैसे अरमान में घुलते रहते हैं, यह जीवन के प्रति सबसे बड़ा छल है.  

Nov 1, 2018, 11:44 AM IST
डियर जिंदगी:  गैस चैंबर; बच्‍चे आपके हैं, सरकार और स्‍कूल के नहीं!

डियर जिंदगी: गैस चैंबर; बच्‍चे आपके हैं, सरकार और स्‍कूल के नहीं!

प्रदूषण के नाम पर न तो वोट कटते हैं. न ही साफ हवा होने से अधिक मिलते हैं. इसलिए हवा, पानी किसी की चिंता में शामिल नहीं. पराली जलाने से रोकने में ‘खतरा’ है, इसलिए प्रदूषण की जगह पराली पर ध्‍यान दिया जा रहा है!

Oct 31, 2018, 10:58 AM IST
डियर जिंदगी : रो लो, मन हल्‍का हो जाएगा!

डियर जिंदगी : रो लो, मन हल्‍का हो जाएगा!

हमारे यहां तो रोना सहज अभिव्‍यक्ति रही है. रोने से मन हल्‍का होता है. ऐसा हम बचपन से सुनते आए हैं, लेकिन कुछ अधिक शहरी होते ही, हमारे मिजाज में कठोरता ऐसी घुली कि हंसना तो टीवी, मोबाइल के सहारे बढ़ गया, लेकिन रोकर मन के मैल को साफ करने का चलन छूट गया है.

Oct 30, 2018, 10:43 AM IST
डियर जिंदगी : अकेलेपन की ‘इमरजेंसी’

डियर जिंदगी : अकेलेपन की ‘इमरजेंसी’

दूसरों के प्रति प्रेम में कमी, महत्वाकांक्षा का पहाड़ हमें एक ऐसी दुनिया बनाने की ओर धकेल रहा है, जहां हमारा मनुष्‍यता से संपर्क हर दिन कम हो रहा है!

Oct 29, 2018, 10:34 AM IST
डियर जिंदगी: कितने 'नए' हैं हम!

डियर जिंदगी: कितने 'नए' हैं हम!

नया कहने से नहीं होता, नया दिखना होता है. नया साबित करना होता है. नया पहनने की चीज नहीं है, वह नितांत आंतरिक विचार है. मन के भीतर अगर आप नहीं बदले, तो बाहर का कोई अर्थ नहीं!

Oct 26, 2018, 08:43 AM IST
डियर जिंदगी: कब से ‘उनसे’ मिले नहीं…

डियर जिंदगी: कब से ‘उनसे’ मिले नहीं…

जब हम जिंदगी को ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई करने वाली सारी खिड़कियां बंद कर देते हैं, तो उससे स्‍वाभाविक रूप से बेचैनी होती है. जो धीरे-धीरे रूखेपन में बदल जाती है.

Oct 25, 2018, 10:52 AM IST
डियर जिंदगी : कम नंबर लाने वाला बच्‍चा!

डियर जिंदगी : कम नंबर लाने वाला बच्‍चा!

हम बच्‍चों की ऊर्जा को किताब के बस्‍ते में बंद रखने की ‘कुप्रथा’ से अभी तक नहीं उबर पाए हैं. हम बच्‍चे के नाम पर अपने यशगान से जितने चिपके रहेंगे, बच्‍चे का उतना ही नुकसान होगा.

Oct 24, 2018, 11:07 AM IST
डियर जिंदगी : कांच के सपने और समझ की आंच…

डियर जिंदगी : कांच के सपने और समझ की आंच…

स्‍कूल सपनों की फैक्‍ट्री बन गए हैं, जहां से टॉपर्स, होनहार बच्‍चे पैदा करने का दावा कुछ इस अदा से किया जाता है कि हम उनके मायाजाल में सहज उलझते जाते हैं.

Oct 23, 2018, 10:31 AM IST

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close