close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महागठबंधन की गांठ सुलझी! 17 मार्च को होगी पटना में सीटों के बंटवारे की घोषणा

नई दिल्ली में बिहार महागठबंधन के नेताओं ने सीट शेयरिंग को लेकर बैठक की है.

महागठबंधन की गांठ सुलझी! 17 मार्च को होगी पटना में सीटों के बंटवारे की घोषणा
महागठबंधन की दिल्ली में बैठक हुई. (फोटा साभारः ANI)

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में बुधवार को बिहार महागठबंधन के नेताओं ने एक बैठक की, जिसमें सीट शेयरिंग को लेकर चर्चाएं की गई. करीब 4-5 घंटे की बैठक के बाद भी सीट शेयरिंग पर बैठक बेनतीजा ही दिख रहा है. हालांकि बैठक में मौजूद हुए नेताओं ने मीडिया से कहा कि हमलोग एक साथ मिलकर बैठक की है. सभी बातें साफ है और कोई असंमजस नहीं है. लेकिन सीट शेयरिंग का ऐलान अभी नहीं किया जाएगा.

दिल्ली में हुई महागठबंधन की बैठक में तेजस्वी यादव, शक्तिसिंह गोहिल, जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा, मुकेश सैनी, अखिलेश सिंह, सदानंद सिंह और अर्जुन राय समेत कई नेता मौजूद थे. बैठक के बाद तेजस्वी यादव ने कहा हम तमाम लोग इकट्ठा हैं एक साथ है और हमलोग चाहते हैं कि हम एनडीए की सरकार को सत्ता से बेदख़ल करें. इसके लिए सारी चीजें सभी दलों ने मिलकर तय कर लिया है. लेकिन समय आने पर हम इसका खुलासा करेंगे.

शक्ति सिंह गोयल ने कहा कि किसी तरह की कोई कन्फ्यूजन नहीं है सारे भ्रम को दूर कर लिया गया है. हम सब साथ है और हम चाहते हैं कि हमारा महागठबंधन ऐसे ही मज़बूत रहे. एनडीए में भी सीटों की उम्मीदवारी का ऐलान नहीं कर पाया है. वह खुद में ही उलझ गए हैं. इसलिए हम उन्हें किसी तरह का मौका नहीं देना चाहते हैं. हम 17 मार्च तक सारे ऐलान कर देंगे.

 

उपेंद्र कुशवाहा कहा कि हमारे बीच कोई मतभेद खोट नहीं है किसी तरह की कोई दिक़्क़त नहीं है, हमारा गठबंधन बहुत मज़बूत है और हम जल्द ही अपनी तमाम सीटों की घोषणा कर देंगे. समय आने पर इसकी विधिवत घोषणा भी होगी और लोगों को जानकारी भी दी जाएगी.

मुकेश सहनी ने भी कहा हमने तमाम दिक्कतों को दूर कर लिया है सभी दलों के नेताओं पर खुशी दिख रही है. साथ ही सहनी ने कहा कि दरभंगा या फिर कोई और लोकसभा क्षेत्र की बात नहीं है, बल्कि बिहार में जहां भी उन्हें मौक़ा मिलेगा वहां से लड़ने को तैयार हैं.

बहरहाल, महागठबंधन की बैठक में अभी सीट शेयरिंग की बात साफ नहीं हो पाई है. हालांकि 17 मार्च तक हर हाल में पता चल ही जाएगा की फैसला क्या होना है. क्यों कि 18 मार्च से चुनाव के नॉमिनेशन शुरू होनेवाले हैं.