'आलाकमान' की मंजूरी के बाद होगी अनंत सिंह की कांग्रेस में एंट्री : मदन मोहन झा

रैली की तैयारियों के बीच राहुल गांधी के साथ-साथ अनंत सिंह की चर्चा जोरों पर है. वह कांग्रेस में शामिल हुए बिना ही रैली के लिए प्रचार कर रहे हैं.

'आलाकमान' की मंजूरी के बाद होगी अनंत सिंह की कांग्रेस में एंट्री : मदन मोहन झा
कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं अनंत सिंह. (फाइल फोटो)

पटना : कांग्रेस पार्टी में मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह की एंट्री को लेकर सस्पेंस गहरा गया है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने साफ कहा है कि आलाकमान की मंजूरी के बाद ही उनकी एंट्री होगी. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष ने राहुल गांधी की रैली के लिए बिहार के लेफ्ट पार्टी समेत सभी विपक्षी दलों के नेताओं को निमंत्रण दिया है. 

कांग्रेस पार्टी बिहार में राहुल गांधी की रैली को लेकर तैयारी में जुट गई है. रैली की तैयारियों के बीच राहुल गांधी के साथ-साथ अनंत सिंह की चर्चा जोरों पर है. अनंत सिंह पार्टी में शामिल हुए बिना ही रैली के लिए प्रचार कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है.

अनंत सिंह ने भले ही घोषणा कर दी हो, लेकिन कांग्रेस में उनकी एंट्री की राह आसान नहीं दिख रही है. मदन मोहन झा ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस में एंट्री आलाकमान की मंजूरी के बाद ही होगी. उन्होंने अनंत सिंह के प्रचार को लेकर कहा कि इसमें कोई ऐतराज नहीं है. लेकिन सदस्यता पर उन्होंने कहा कि यह आलाकमान की मंजूरी के बाद ही संभव है.

लोकसभा चुनाव : बिहार में बाहुबलियों का 'हाथ', कांग्रेस के साथ!

मंगलवार को पटना में मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि तीन फरवरी को पटना के गांधी मैदान में होने वाली रैली को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. रैली में शामिल होने के लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, उपेन्द्र कुशवाहा, मुकेश सहनी और लेफ्ट पार्टी के बिहार के नेताओं को आमंत्रित किया गया है. वहीं, बिहार से बाहर के कांग्रेसी नेताओं को आमंत्रण दिए जाने के सवाल पर कहा कि कांग्रेस शासित अन्य प्रदेशों के भी सीएम को भी निमंत्रण देने पर विचार किया जा रहा है.

14 जनवरी के बाद होगा महागठबंधन के सीट शेयरिंग पर फैसला- मदन मोहन झा

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस ने बिहार की रैली में शामिल होने के लिए राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ के सीएम को न्योता भेज दिया है. पार्टी इन तीन राज्यों को अपनी जीत के मॉडल के रुप में पेश करना चाहती है.