बिहार: बेगूसराय में देसी शराब बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

 उत्पाद विभाग की टीम ने चकिया ओपी के सिमरिया गांव में छापेमारी की जहां पुलिस ने झारखंड उत्पाद विभाग का रैपर, 35 लीटर देसी शराब, खाली शराब की बोतल और पंचिंग मशीन बरामद किया है.

बिहार: बेगूसराय में देसी शराब बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार
बेगूसराय में उत्पाद विभाग की टीम ने देसी शराब बनाने की मिनी फैक्ट्री का खुलासा किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बेगूसराय: बिहार के बेगूसराय में उत्पाद विभाग की टीम ने देसी शराब बनाने की मिनी फैक्ट्री का खुलासा किया है. उत्पाद विभाग की टीम ने चकिया ओपी के सिमरिया गांव में छापेमारी की जहां पुलिस ने झारखंड उत्पाद विभाग का रैपर, 35 लीटर देसी शराब, खाली शराब की बोतल और पंचिंग मशीन बरामद किया है.

पुलिस ने मौके से लखीसराय जिला निवासी पप्पू कुमार और समस्तीपुर जिला निवासी संजीत कुमार पासवान को गिरफ्तार किया है. दरअसल उत्पाद विभाग को सूचना मिली थी कि चकिया ओपी के बरियाही गांव निवासी नवीन यादव के अर्धनिर्मित घर से शराब का कारोबार किया जाता है. 

इसी सूचना पर उत्पाद विभाग की टीम ने छापेमारी कर मिनी फैक्ट्री का खुलासा किया है. उत्पाद विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले भी गाछी टोला और रूपनगर गांव में देसी शराब की मिनी फैक्ट्री का खुलासा किया था. 

बेगूसराय में एक रैकेट बनाकर देशी शराब बनाने का काम किया जा रहा है. शराब तस्कर झारखंड उत्पाद विभाग के रैपर में देशी शराब भर कर बिक्री की जाती है. बिहार में शराबबंदी के बावजूद बेगूसराय में लगातार देसी शराब की मिनी फैक्ट्री का खुलासा होने से शराबबंदी पर सवाल जरूर उठा रहा है.