9वीं कक्षा के छात्र ने चिट्ठी लिखकर राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु, कहा- 'मैं परेशान हूं'
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar554070

9वीं कक्षा के छात्र ने चिट्ठी लिखकर राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु, कहा- 'मैं परेशान हूं'

भागलपुर जिले के एक 15 वर्षीय युवक ने राष्ट्रपति को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु का अनुरोध किया है. राष्ट्रपति को भेजे पत्र की प्रतिलिपि कृष ने प्रधानमंत्री, बिहार के मुख्यमंत्री समेत आला अधिकारियों को भेजी है.

 

15 वर्षीय छात्र ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी है.

भागलपुरः बिहार के भागलपुर जिले के एक 15 वर्षीय युवक ने इच्छा मृत्यु की मांग की है. कहलगांव थाना अंतर्गत महिषामुंडा गांव निवासी मनोज कुमार मित्रा के पुत्र कृष कुमार मित्रा ने पारिवारिक कलह से तंग आकर राष्ट्रपति को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु का अनुरोध किया है. राष्ट्रपति को भेजे पत्र की प्रतिलिपि कृष ने प्रधानमंत्री, बिहार के मुख्यमंत्री समेत आला अधिकारियों को भेजी है.

वहीं, अब युवक की चिट्ठी मिलने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय के निर्देश पर जिला प्रशासन मामले की जांच कर रहा है.

कृष ने आरोप लगाया है कि मां की प्रताड़ना और उनके द्वारा मुकदमेबाजी किए जाने तथा आसामाजिक तत्वों द्वारा बार बार धमकी दिये जाने से वह परेशान है. ऐसे में अब उसे जीवित रहने की इच्छा नहीं रह गई है.

कृष के पिता मनोज, जो कैंसर रोग से पीड़ित हैं. ग्रामीण विकास विभाग देवघर में जिला प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं. जबकि, उसकी मां सुजाता इंडियन ओवरसीज बैंक पटना में सहायक प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं.

कृष अपने पिता के साथ रहता है और जसीडिह पब्लिक स्कूल में नौंवीं कक्षा का छात्र है. मनोज और उनकी पत्नी के बीच लंबे अरसे से विवाद चल रहा है. और दोनों अलग अलग रह रहे हैं. कृष के दादा संजय कुमार मित्रा जो कि कहलगांव एनटीपीसी में वर्कमैन के पद से अवकाश प्राप्त कर चुके हैं. उनके साथ उसके चाचा तथा अन्य परिजनों ने भी सुजाता के बर्ताव को पूरी तरह अनुचित ठहराया है.