21 फरवरी के नीतीश कुमार करेंगे आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय की नई बिल्डिंग का उद्घाटन

शुरुआत में इस विश्वविद्यालय पर 94 करोड़ रुपये खर्च होने थे, लेकिन अब यह यूनिवर्सिटी 122 करोड़ में बनकर तैयार हुई है. 

21 फरवरी के नीतीश कुमार करेंगे आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय की नई बिल्डिंग का उद्घाटन
21 फरवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे इसका उद्घाटन. (फाइल फोटो)

पटना : आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय की नई बिल्डिंग का 21 फरवरी का उद्घाटन होने जा रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका उद्घाटन करेंगे. तीन वर्षों में तैयार हुई नई बिल्डिंग कई मायनों में अहम है. यह सीएम नीतीश का ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है. कई एकड़ में फैले छह मंजिला इमारत अब इसका नया ठिकाना बनने जा रहा है. 13 अगस्त 2015 को इस बिल्डिंग की नींव रखी गई थी और ढ़ाई साल में यह बनकर तैयार हो गया है.

21 फरवरी को अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं. शुरुआत में इस विश्वविद्यालय पर 94 करोड़ रुपये खर्च होने थे, लेकिन अब यह यूनिवर्सिटी 122 करोड़ में बनकर तैयार हुई है. यहां सोलर पैनल भी लगाए गए हैं, जिसके जरिए कैंपस का बाहरी हिस्सा रोशन होता है.

नीतीश कुमार ने शासन संभालने के बाद पटना के मीठापुर इलाके को एजुकेशनल हब बनाने की घोषणा की थी और धीरे-धीरे ही सही मीठापुर इलाके एजुकेशनल हब बनने की ओर अग्रसर है. चंद्रगुप्त इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और अब आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय, ये सभी शिक्षण संस्थानों ने मिलकर बिहार में शिक्षा की एक अलग तस्वीर पेश किया है.

बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के मुताबिक, वह दिन दूर नहीं जब मीठापुर का पूरा इलाका ही एजुकेशनल जोन के रूप में तब्दील होगा. आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय में ऊर्जा की बचत का भी ध्यान रखा गया है.

आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय की कुछ खास बातें :

  • अगस्त 2015 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रखी थी आधारशिला.
  • यूनिवर्सिटी के नए कैंपस पर 122 करोड़ रुपये खर्च हुए.
  • ग्राउंड के साथ ही इस बिल्डिंग में 6 फ्लोर हैं.
  • हर फ्लोर 20 हजार स्कवॉयर फीट में फैला है.
  • नए कैंपस के तीन ब्लॉक- प्रशासनिक, एकेडमिक और एग्जामिनेशन ब्लॉक.
  • यूनिवर्सिटी ने पिछली बार आयकर विभाग को 2 करोड़ रुपए का आयकर दिया था.
  • यूनिवर्सिटी में फिलहाल 25 हजार छात्र और छात्रा पढ़ाई करते हैं.
  • मेडिकल, इंजीनियरिंग, बीएड, एमएड, एमबीए, एमसीए, बीबीए, नर्सिंग, फिजियोथेरेपी, योगा सहित कई विषयों की पढ़ाई.
  • सेंटर फॉर जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन, सेंटर फॉर रिवर स्टडीज, सेंटर फॉर ज्योग्राफी, पाटलिपुत्र स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स की होगी शुरुआत.

आर्यभट्ट यूनिवर्सिटी के प्रतिकुलपति प्रोफेसर सैयद मोहम्मद करीम का दावा है कि यहां की जैसी नैनो साइंस की पढ़ाई पूरे पूर्वी भारत में कहीं नहीं होती है. दूसरी तरफ चंद्रगुप्त इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजेमेंट में 14 लाख तक का कैंपस प्लेसमेंट हो रहा है. चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और निफ्ट में भी इसी तरह का प्लेसमेंट है. सीआईएमपी जल्द ही एक नया कैंपस मॉरीशस में भी खोलने जा रहा है. इन संस्थानों के लिए एक समस्या मीठापुर बस स्टैंड को लेकर है.