चमकी बुखार पर बिहार सरकार ने दाखिल किया SC में हलफनामा, कहा- संसाधनों की घोर कमी

चमकी बुखार पर बिहार सरकार ने दाखिल किया SC में हलफनामा, कहा- संसाधनों की घोर कमी

हलफनामे में बिहार सरकार ने कोर्ट को यह आश्वस्त करने की कोशिश की है कि मेडिकल ऑफिसर, पैरा मेडिकल और टेक्निकल स्टाफ की नियुक्ति को लेकर कदम उठाने जा रही है.

चमकी बुखार पर बिहार सरकार ने दाखिल किया SC में हलफनामा, कहा- संसाधनों की घोर कमी

पटना/नयी दिल्ली : बिहार में चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत पर सुप्रीमकोर्ट में दायर जनहित याचिकाओं के जवाब में बिहार सरकार ने हलफनामा दायर किया है. हलमफनामा में सरकार ने माना है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रदेश में संसाधनों का घोर अभाव है.

बिहार में इंसेफेलाइटिस से हो रही बच्चों की मौत के मामले में राज्य सरकार ने माना है कि स्वास्थ्य विभाग में संसाधनों की बेहद कमी है. सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में नीतीश सरकार ने माना है कि प्रदेश में 47 प्रतिशत डॉक्टरों की कमी है. विभाग में 71 प्रतिशत नर्स, 62 प्रतिशत लैब टेक्नीशियन और 48 प्रतिशत फार्मासिस्ट के पद खाली पड़े हैं.

हलफनामे में बिहार सरकार ने कोर्ट को यह आश्वस्त करने की कोशिश की है कि मेडिकल ऑफिसर, पैरा मेडिकल और टेक्निकल स्टाफ की नियुक्ति को लेकर कदम उठाने जा रही है.

इस मामले में सुप्रीमकोर्ट ने 24 जून को केन्द्र सरकार को भी नोटिस जारी कर सात दिन में जवाब मांगा था और दस दिन बाद सुनवाई करने की बात भी कही थी. उम्मीद है कि केन्द्र सरकार बुधवार को अपना जवाब सुप्रीमकोर्ट में दाखिल करेगी.

Trending news