close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जमुईः विजिलेंस टीम की कार्रवाई, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

निगरानी टीम ने जमुई के सोनो में एक शिक्षा विभाग के अधिकारी को रिश्वत लेते रंग हाथों गिरफ्तार किया है. 

जमुईः विजिलेंस टीम की कार्रवाई, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा
विजिलेंस टीम ने जमुई के बीईओ को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है.

जमुईः बिहार में निगरानी विभाग की टीम ने शिक्षा विभाग में चल रहे धांधली पर शिकंजा कसा है. निगरानी टीम ने जमुई के सोनो में एक शिक्षा विभाग के अधिकारी को रिश्वत लेते रंग हाथों गिरफ्तार किया है. दरअसल सोनो के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को निगरानी टीम ने उनके आवास पर ही रंगे हाथों दबोचा है.

पटना से आई निगरानी विभाग की टीम ने जमुई के सोनो में पदस्थापित प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रामाशंकर साह को एक उर्दू शिक्षिका से 10 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. बीईओ रामाशंकर साह के शास्त्री कॉलोनी आवास से ही उन्हें गिरफ्तार किया गया है. रामाशंकर सोनो प्रखंड के साथ चकाई प्रखंड का भी पदभार संभाल रहे थे.

बताया जाता है कि सोनो प्रखंड के कोड़ाडीह गांव के नवीन प्राथमिक मकतब विद्यालय में उर्दू शिक्षिका के पद पर कार्यरत शगुफ्ता नाज़ फातमी का दो वर्षों से रुके वेतन दिलवाने के लिए 10 हज़ार रुपये की मांग की गई थी. पैसा नहीं देने पर महिला शिक्षिका को वेतन के लिए कई महीनों से परेशान किया जा रहा था. शिक्षिका शगुफ्ता नाज़ फातमी ने बताई की जब से शिक्षिका के पद पर योगदान दी थी तब से उनका वेतन लगभग दो वर्षों से शुरू नहीं हुआ था.

वहीं, बीईओ द्वारा शिक्षिका से घुस लेने की बात जब बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह के सामने आई तो उन्होंने इसकी सूचना पटना निगरानी विभाग को दी. उसके बाद निगरानी विभाग ने डीएसपी गोपाल पासवान के नेतृत्व में एक टीम बनाकर गुरुवार की सुबह शहर स्थित शास्त्री क्लोनी के आवास से रंगे हाथों 10 हज़ार रुपए घुस लेते पकड़ा.

निगरानी विभाग की टीम बीईओ को गिरफ्तार कर अपने साथ पटना लेकर चली गई. बताते चलें कि लगभग 3 वर्ष पहले जमुई प्रखंड के बीईओ मज़हर आलम को और महज 4 महीने पहले चकाई प्रखंड के बीईओ रामस्वरूप पासवान को निगरानी की टीम न घुस लेते चकाई से गिरफ्तार कर पटना ले गई थी.