close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

LJP के इफ्तार पार्टी में एक साथ दिखी BJP-JDU, पहुंचे नीतीश कुमार और सुशील मोदी

बिहार में इन दिनों सियासी इफ्तार पार्टी चल रही है. एक के बाद एक सियासी दल इफ्तार पार्टी का आयोजन कर रहे हैं.

LJP के इफ्तार पार्टी में एक साथ दिखी BJP-JDU, पहुंचे नीतीश कुमार और सुशील मोदी
एलजेपी के इफ्तार पार्टी में जेडीयू और बीजेपी नेता पहुंचे. (फोटो साभार: ANI)

नई दिल्लीः बिहार में इन दिनों सियासी इफ्तार पार्टी चल रही है. एक के बाद एक सियासी दल इफ्तार पार्टी का आयोजन कर रही है. बिहार में इफ्तार पार्टी को लेकर हमेशा से सियासत होती रही है. अब इन दिनों राजनीतिक पार्टियां इफ्तार पार्टी दे रहे हैं. जिससे नई सियासत बाहर आ रही है.

रविवार को जेडीयू और बीजेपी दोनों ने इफ्तार पार्टी दी थी. लेकिन दोनों ही पार्टियों के नेता एक दूसरे की इफ्तार पार्टी में नहीं दिखे. जिसके बाद सियासत शुरू हो गई. इस बात को और बल मिल गया कि जेडीयू-बीजेपी के बीच खटास बढ़ गई है. क्योंकि इन दिनों यह खबर फैल रही है कि बीजेपी-जेडीयू के बीच सबकुछ ठीक नहीं है.

वहीं, जेडीयू की इफ्तार पार्टी में जीतनराम मांझी का पहुंचना भी एक नहीं सियासी समीकरण का इशारा कर रही है. अब आज नीतीश कुमार भी जीतनराम मांझी के इफ्तार में पहुंचे हैं.

इससे पहले नीतीश कुमार एलजेपी की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए. रामविलास पासवान ने सोमवार को इफ्तार पार्टी दी. जिसमें जेडीयू और बीजेपी दोनों को आमंत्रित किया था. वहीं, एलजेपी की इफ्तार पार्टी में बीजेपी और जेडीयू एक साथ दिखी.

एलजेपी के इफ्तार पार्टी में नीतीश कुमार के साथ सुशील मोदी भी पहुंचे थे. हालांकि, दोनों एक साथ बैठे नहीं दिखे. सुशील मोदी रामविलास पासवान के साथ बैठे थे तो नीतीश कुमार राज्यपाल लालजी टंडन के साथ इफ्तार पार्टी का मजा ले रहे थे.

आपको बता दें कि नीतीश कुमार दिल्ली से आने के बाद साफ किया था कि उनकी पार्टी मोदी सरकार में शामिल नहीं होगी. और कैबिनेट मंत्री पद भी नहीं लेगी. और ऐसा पांच सालों में सरकार रहने तक नहीं होगा. इस बयान के बाद से बिहार में सियासी हलचल मची हुई है. और बीजेपी-जेडीयू के बीच खटासों की खबर आने लगी.