मीसा भारती के आपत्तिजनक बयान पर BJP बोली, 'जंगलराज के पुरोधा ऐसा ही बोल सकते'

बीजेपी नेता ने कहा कि 'गड़ासे से हाथ काट देना', तो कभी 'गर्दन काट देना' जैसे बयान आरजेडी नेताओं की सोच को दर्शाता है.

मीसा भारती के आपत्तिजनक बयान पर BJP बोली, 'जंगलराज के पुरोधा ऐसा ही बोल सकते'
मीसा भारती के बयान पर बीजेपी की प्रतिक्रिया. (फाइल फोटो)

सासाराम : राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती द्वारा केंद्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव का गड़ासे से हाथ काटने वाले आपत्तिजनक बयान पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता और श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि जो पार्टी जंगलराज का पुरोधा हो, उसके सांसदों का ऐसा ही बयान हो सकता है.

बीजेपी नेता ने कहा कि देश 21वीं सदी के डिजिटल युग में पहुंच गया है. विकास और उन्नति की बातें हो रही है. ऐसे में 'गड़ासे से हाथ काट देना', तो कभी 'गर्दन काट देना' जैसे बयान आरजेडी नेताओं की सोच को दर्शाता है.

रोहतास के डालमियानगर में श्रम संसाधन विभाग द्वारा आयोजित नियोजन मेले में भाग लेने के बाद पत्रकारों से कहा कि लोकतंत्र में परिवारवाद, तानाशाह और हिटलरशाही का कहीं कोई स्थान नहीं है. जो लोग इस तरह का बयान देते हैं, उन्हें महसूस होना चाहिए कि सुशासन के राज में इस तरह की बातों का कोई औचित्य नहीं है.

ज्ञात हो कि बिक्रम में आरजेडी के कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान मीसा भारती ने रामकृपाल यादव के हाथ काटने की बात कही. उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले तक रामकृपाल यादव का वह बहुत सम्मान करती थी, लेकिन ये सम्मान तब खत्म हो गया, जब उन्होंने सुशील कुमार मोदी के साथ हाथ मिला लिए. उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा कि जिस दिन वह सुशील मोदी की किताब हाथ में लेकर खड़े थे, उस दिन मेरी इच्छा हुई कि उसी कुट्टी (चारा) काटने वाले गडासे से उसका हाथ काट दें.