close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकुड़: लगातार बारिश से करोड़ों का बना पुल बहा, 2015 में ही हुआ था निर्माण

लगातार बारिश से महेशपुर प्रखंड के चंडालमारा में बॉसलोई नदी पर बने करोड़ों रुपये का पुल बह गया है. अभी नदी में पानी उफान पर है.

पाकुड़: लगातार बारिश से करोड़ों का बना पुल बहा, 2015 में ही हुआ था निर्माण
पुल का निर्माण साल 2015 में जमाल कंस्ट्रक्शन ने किया था.

पाकुड़: झारखंड के पाकुड़ में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ की स्थित बन गई है. वहीं, लगातार बारिश से महेशपुर प्रखंड के चंडालमारा में बॉसलोई नदी पर बने करोड़ों रुपये का पुल बह गया है. अभी नदी में पानी उफान पर है.

बताया जा रहा है की निर्माण के समय में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा गया था और निर्माण के बाद पुल का पिलर भी धंसा था. पुल में कई जगह दरार भी आई थी लेकिन उस वक्त ध्यान नहीं दिया गया. भारी बारिश के बाद पुल का दो पिलर दब गया .जिसकी वजह से बीच से पुल टुटा गया है. पुल का निर्माण साल 2015 में जमाल कंस्ट्रक्शन ने किया था.

 

 चंडालमारा से घाटचोरा गांव के बीच यह पुल बना हुआ है. पुल के टूटने से दर्जनों गांव के ग्रामीण महेशपुर, अमड़ापाड़ा से संपर्क टूट गया है. अब ग्रामीणों को प्रखंड मुख्यालय पहुचने के लिए 25 किलोमीटर ज्यादा दूरी तय करनी होगी. बताया जाता है की बालू माफिया इस पुल के नीचे से धड़ल्ले से अवैध तरीके से बालू का उठाव भी करते थे जिसकी वजह से पुल डैमेज हो गया था.

बाढ़ की वजह से पाकुड़ के पूर्वी इलाके में गांव में पानी घुस गया है. गंगा का पानी आकर पाकुड़ के निचले इलाका में भर गया है जिसके कारण बाढ की स्थिति उत्पन्न हो गयी है. महेशपुर के बासलोई नदी, पाकुडिया के तरुपतिया नदी उफान पर है. पुल के उपर से पानी बह रहा है जिसके कारण लोगों का आना जाना बाधित हो गया है. पाकुडिया के खक्सा गांव में बारिश के कारण मिटटी की दिवार से बना घर गिर गया जिसके कारण एक शख्स घायल हो गया है.
Anupama Kumari, Zee news