झारखंड के 3 मेडिकल कॉलेजों के संचालन के मंजूरी को लेकर केंद्र-राज्य सरकार में तनातनी

जब आधी अधूरी बनी मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन हो सकता है, उसमें एडमिशन हो सकता है तो पूर्णतः तैयार मेडिकल कॉलेज में नामांकन क्यों नहीं. हम लगातार संपर्क में हैं क्या रास्ता निकलता है इंतजार है.

झारखंड के 3 मेडिकल कॉलेजों के संचालन के मंजूरी को लेकर केंद्र-राज्य सरकार में तनातनी
झारखंड के 3 मेडिकल कॉलेजों के संचालन के मंजूरी को लेकर केंद्र-राज्य सरकार में तनातनी.

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ चीजें हैं जिसमें राज्य और केंद्र मिलकर कदम बढ़ाते हैं, एक पैर उनका है तो एक पैर राज्य का है. ऐसी स्थिति में आज जब हमने उन तीन मेडिकल कॉलेज को पूर्णतः संचालित करने का कार्य पूर्ण कर लिया है तो ये स्थिति है. 

जब आधी अधूरी बनी मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन हो सकता है, उसमें एडमिशन हो सकता है तो पूर्णतः तैयार मेडिकल कॉलेज में नामांकन क्यों नहीं. हम लगातार संपर्क में हैं क्या रास्ता निकलता है इंतजार है.

इस पर बीजेपी प्रवक्ता प्रतुल शहदेव ने पलटवार करते हुए कहा कि पिछले वर्ष हमारी सरकार ने स्पेशल परमिशन के जरिए नामांकन की अनुमति ली थी और मेडिकल काउंसिल ने सशर्त अनुमति दी थी की सारी अहर्ताओ को पूरा करना है पर पिछले एक वर्ष में इस सरकार ने उन अहर्ताओं को पूरा नहीं किया.

उन्होने कहा कि इसके कारण मेडिकल काउंसिल ने एडमिशन पर रोक लगा दिया है.पूरी तरह से ये सरकार दोषी है एक वर्ष में न्यूनतम आहर्ता पूरी करनी चाहिए थी.