केंद्रीय मंत्री ने केंद्र के राहत पैकेज ऐलान पर कहा- आपदा से जूझने का सतत प्रयास कर रही सरकार

उन्होंने बताया कि अप्रैल के पहले सप्ताह में किसानों के खातों में मोदी सरकार 2 हजार रुपए देने जा रही है, वहीं उज्ज्वला योजना के आठ करोड़ लाभार्थी महिलाओं को अगले तीन महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर भी मोदी सरकार देने वाली है. 

केंद्रीय मंत्री ने केंद्र के राहत पैकेज ऐलान पर कहा- आपदा से जूझने का सतत प्रयास कर रही सरकार
केंद्रीय मंती नित्यानंद राय ने केंद्र के राहत पैकेज ऐलान पर कहा- आपदा से जूझने का सतत प्रयास कर रही है सरकार.(फाइल फोटो)

पटना: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने COVID-19 की वैश्विक आपदा से जूझ रहे देश के गरीबों, किसानों, महिलाओं, मजदूरों, दिव्यांगजनों के लिए एक लाख सत्तर हजार करोड़ के बड़े राहत पैकेज के ऐलान पर खुशी जाहिर की है. 

राहत पैकेज का ऐलान माननीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई दिल्ली में किया गया है. नित्यानंद राय ने कहा कि मोदी सरकार एक तरफ तो इस वैश्विक स्तर पर कोरोना के कारण पैदा हुई आपदा से जूझने के लिए सतत प्रयास कर रही है वहीं ‘लॉक डाउन’में देश के गरीबों सहित सभी की जरूरतों के प्रति भी संवेदनशील है. 

उन्होंने बताया कि अप्रैल के पहले सप्ताह में किसानों के खातों में मोदी सरकार 2 हजार रुपए देने जा रही है, वहीं उज्ज्वला योजना के आठ करोड़ लाभार्थी महिलाओं को अगले तीन महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर भी मोदी सरकार देने वाली है. 

इसके जरिए गरीबों को पांच किलो गेंहूं और चावल तथा एक किलो दाल मुफ्त देने का ऐलान भी हुआ है. बुजुर्गों तथा दिव्यांगों को 1 हजार रुपए तीन महीने तक देने की बात कही गयी है. इस बीमारी से निपटने में जुटे चिकित्सा क्षेत्र के लोगों को पचास लाख तक के जीवन बीमा की घोषणा भी की गयी है. 

नित्यानंद राय ने कहा कि इस प्रतिकूल परिस्थिति में माननीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में लगातार किए जा रहे प्रयास देश की आम और गरीब जनता के प्रति मानवीय संवेदना को दर्शाने वाले हैं. इसके लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व का हृदय से आभार किया है. 

इसके अलावा सभी बिहारवासियों से कोरोना की चुनौती से निपटने के लिये लॉकडाउन के दौरान सरकारी निर्देशों का पालन करने और सपरिवार सतर्क रहते हुए स्वस्थ रहने की अपील की है.