मायानगरी मुंबई में पिता को अकेले छोड़ फरार हो गई बेटी, इस अभिनेता व मीडियाकर्मी ने की मदद

बहरहाल 26 जनवरी की सुबह बेटी, दामाद और नाती बुजुर्ग नेखलाल साव को सिद्धिविनायक मंदिर के पास बैठा कर कुछ देर में लौट आने की बात कहते हुए फरार हो गए.

मायानगरी मुंबई में पिता को अकेले छोड़ फरार हो गई बेटी, इस अभिनेता व मीडियाकर्मी ने की मदद
मायानगरी मुंबई में पिता को अकेले छोड़ फरार हो गई बेटी, इस अभिनेता व मीडियाकर्मी ने की मदद

Koderma: कलयुगी दुनिया में बूढ़े माता-पिता के साथ बेटों के द्वारा किए जाने वाले अन्याय की खूब चर्चाएं समाज में सुनने को मिलती है. गिरिडीह में इसका ठीक उल्टा हुआ है जहां एक बेटी अपने बूढ़े पिता को मायानगरी मुंबई में अकेले छोड़ फरार हो गई. देश की तमाम बेटियों के सम्मान को ठेस पहुंचाया है. 

हालांकि मीडियाकर्मी शिखा वर्मा और अभिनेता नीरज सिंह (Actor NeeraJ Singh) की पहल पर मायानगरी में भटक रहे बुजुर्ग नेखलाल साव सकुशल अपने घर पहुंच गए हैं.

26 जनवरी को जब पूरा देश गणतंत्र दिवस (Republic Day) के जश्न में मशगूल था, उस वक्त मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर (Sidhi Vinayak Temple) के पास एक बुजुर्ग की निगाहें अपनों को तलाश रही थी. 90 साल के नेखलाल साव जो गिरिडीह के हीरोडीह थानाक्षेत्र के रहने वाले हैं. अपनी बीमारी का इलाज के लिए अपनी बेटी के पास मुंबई गए थे, लेकिन उन्हें क्या पता यहां भी उन्हें कोई आसरा ना मिलेगा.  

यह भी पढ़ें:-  Giridih: चलती क्लास में अचानक पहुंचे थाना प्रभारी, हड़बड़ा गए बच्चे, फिर...

बहरहाल 26 जनवरी की सुबह बेटी, दामाद और नाती बुजुर्ग नेखलाल साव को सिद्धिविनायक मंदिर के पास बैठा कर कुछ देर में लौट आने की बात कहते हुए फरार हो गए.

संस्कार और रिश्तों को तारतार करते हुए जब एक बेटी ने ही पति और बेटे के साथ मिलकर अपने 90 वर्षीय वृद्ध पिता को अपने जीवन से छुटकारा पाने कि नीयत से मायानगरी मुंबई में लावारिस छोड़ आती है तो खून के रिश्ते, मर्यादा और संवेदना भी शर्मसार होने लगते हैं. 

मीडियाकर्मी और अभिनेता ने की घर पहुंचने में मदद
मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर के गेट पर वृद्ध को रोते बिलखते देख मीडियाकर्मी शिखा वर्मा और अभिनेता नीरज सिंह राजपूत की नजर पड़ी. मानवता धर्म निभाते हुए उन्होंने उनका हालचाल लिया और तुरंत उन्हें सुरक्षित उनके घर भेजने की कोशिश में जुट गए. 

इस दिशा में शिखा वर्मा और नीरज सिंह ने बुजुर्ग नेखलाल साव के साथ उनकी कहानी बताते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया, ताकि इसके जरिए नेखलाल साहू का के परिजनों का पता चल सके.

सकुशल ट्रेन से घर भेजे गए नेखलाल साव
बुजुर्ग नेखलाल साव को घर पहुंचाने के क्रम में गूगल के माध्यम से कोडरमा के एनजीओ समर्पण से उनका संपर्क हुआ. उन्होंने संस्था से सारी बातें साझा की. यह जानने के तुरंत बाद समर्पण संस्था के सचिव इंद्रमणि साहू ने उन्हें सकुशल ट्रेन से कोडरमा भेजने का आग्रह किया एवं वृद्ध को उनके घर तक पहुंचाने के लिए आश्वस्त भी किया. 

इधर, तय कार्यक्रम के अनुसार समर्पण की पूरी टीम रात के 3 बजे कोडरमा स्टेशन पर पहुंची एवं वृद्ध को अपने संरक्षण में लिया. वृद्ध को सम्मान के साथ कार्यालय लाया गया एवं उन्हें भोजन करवाकर अपने वाहन से सकुशल उनके गिरीडीह स्थित घर तक पहुंचा दिया गया. 

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो से बनी बात
कभी-कभी सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो लोगों के लिए जी का जंजाल बन जाता है, लेकिन यहां सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो का सकारात्मक परिणाम नजर आया है. सोशल मीडिया पर मुंबई के मीडिया कर्मी शिखा वर्मा और अभिनेता नीरज सिंह के द्वारा वीडियो वायरल किए जाने के बाद अपनी बेटी के द्वारा ठुकराए गए बुजुर्ग नेखलाल साव को फिर से उनके घर तक उनके बेटों के पास वापस पहुंचाया जा सका और इसका सुखद परिणाम सबके सामने है.
इनपुट:- गजेंद्र बिहारी