close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बेगूसराय: बारिश नहीं होने से किसानों में हाहाकार, अब तक नहीं हुई फसलों की बुआई

सान ना ही धान के बिचड़े दे पा रहे हैं न ही जानवरों को चारा, सोयाबीन या अन्य कोई भी फसल की बुआई हो पाई है. मानसून के लेट होने से किसान असमंजस की स्थिति में है.

बेगूसराय: बारिश नहीं होने से किसानों में हाहाकार, अब तक नहीं हुई फसलों की बुआई
भीषण गर्मी के कारण खेतों की नमी चली गई है जिस वजह से कृषि कार्य शुरू नहीं हुआ है.

बेगूसराय: बिहार के बेगूसराय में बारिश नहीं होने से किसानों के बीच हाहाकार मचा हुआ है और आने न भविष्य को लेकर उनकी चिंताएं बढ़ गई है. दरअसल, बारिश नहीं होने से किसानों के ना तो खेतों की जुताई हो रहीं हैं और न ही अभी तक किसी भी फसल की बुआई हो पाई है.

भीषण गर्मी के कारण खेतों की नमी चली गई है जिस वजह से खेतों में कोई फसल नहीं लगाई जा सकी है. किसान ना ही धान के बिचड़े दे पा रहे हैं न ही जानवरों को चारा, सोयाबीन या अन्य कोई भी फसल की बुआई हो पाई है. मानसून के लेट होने से किसान असमंजस की स्थिति में हैं.

किसानों ने जहां कर्ज लेकर पंपसेट के माध्यम से कुछ खेती की भी है लेकिन उस खेतों में पटवन करने की स्थिति में किसान नहीं है .किसानों का कहना है कि 200 रुपए घंटे के हिसाब से पटवन होता है जो किसानों को संभव नहीं है. 

इस भीषण गर्मी में पटवन कर खेतों की बुआई कर सके. किसान सरकार से जहां मदद की गुहार लगा रहे हैं अगर यही स्थिति रही तो पूरा जिला सुखाड़ की चपेट में आ जाएगा.