close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः पंचायत का तालिबानी फैसला, मानव तस्करी के कथित आरोपी को पीटा और थूक चटवाया

युवक पर कथित तौर पर आरोप लगाया जा रहा है कि वह इलाके की भोली-भाली और कम उम्र की लड़कियों को अपनी बातों में फंसा कर पहले प्रेम का नाटक करता है.

बिहारः पंचायत का तालिबानी फैसला, मानव तस्करी के कथित आरोपी को पीटा और थूक चटवाया
युवक की पिटाई कर थूक चटवाया गया.

मोहन प्रकाश/सुपौलः बिहार के सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज थाना इलाके के थलहा गढ़िया उत्तर पंचायत के बलजोरा स्थित खोरिया मिशन में पंचायत का एक तालिबानी फरमान सामने आया है. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है, जिसमें मानवीय संवेदना को शर्मशार करते हुए एक युवक के साथ पहले मारपीट की गई. इसके बाद उसे चप्पल पर थूक फेंक कर चटवाया गया. युवक पर कथित रूप से मानव तस्करी का आरोप लगाते हुए युवक को प्रताड़ित किया जा रहा है.

यह घटना 23 जून की बताई जा रही है. वहीं, इस मामले में बताया जा रहा है कि प्रताड़ना के बाद युवक को मुक्त कर दिया गया, लेकिन पुलिस को सूचना नहीं दी गई. इधर, पीड़ित युवक का कहना है कि वह थाना की शरण में इसलिए नहीं गया कि पुलिस पर उसका भरोसा नहीं है. वहीं, पंचायत के तथाकथित प्रबुद्धों का कहना है कि बात लड़की के प्रतिष्ठा की थी, इसलिए थाना को सूचना नहीं दी गई.

युवक पर कथित तौर पर आरोप लगाया जा रहा है कि वह इलाके की भोली-भाली और कम उम्र की लड़कियों को अपनी बातों में फंसा कर पहले प्रेम का नाटक करता है. और फिर शादी का झांसा देकर उसे दिल्ली ले जाता है. और वहां उस लड़की को किसी गैर के हाथों बेच देता है. ऐसा करना युवक का धंधा है. लड़के ने गांव की कई लड़कियों को फंसाया है. लड़के को यह कहने पर मजबूर किया गया कि वह गांव की सभी लड़कियों को अपनी बहन मानेगा और दोबारा ऐसा काम नहीं करेगा. इसके बाद लड़के को चप्पल पर थूक फेंक कर चटवाया गया.

दरअसल घटना के 6 दिन पहले आरोपी से मिलने बाजार गई थी वायरल वीडियो की पड़ताल में पता चला कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है. वीडियो में जो लड़की चप्पल से मारती दिख रही है, उसके परिजनों का दावा है कि लड़का उसके घर के नंबर पर मैसेज करता था और फोन पर लड़की से बातचीत भी होती थी. घटना से 5-6 दिन पूर्व लड़के के बुलावे पर लड़की उससे मिलने बाजार गई थी. 

परिजनों ने काफी खोजबीन की. बाद में शाम के समय लड़की आरोपी युवक के साथ घर लौटी. दोनों से बातचीत के बाद परिजन शादी के लिए भी तैयार हो गए. दावा किया कि इसके बाद युवक के बारे में पता किया गया तो मालूम हुआ कि आरोपी युवक पूर्व से ही शादीशुदा है और ऐसे जालसाजी करना उसका पेशा है. बताया कि लड़का दो भाई है और एक भाई की मौत के बाद उसकी पत्नी से भी कोर्ट में शादी कर चुका है.

वहीं, पीड़ित युवक ने, कहा लड़की से उसकी मुलाकात जनवरी महीने में एक शादी समारोह के दौरान हुई थी. और दोनों दोस्त की तरह थे. घटना के दिन जब वह लड़की को छोड़ने उसके घर गया तो वहां पंचायत के पूर्व मुखिया सहित कुछ लोगों ने उसके साथ मारपीट की गई और चप्पल पर थूक फेंक कर चटवाया गया. इसके अलावा पंचायत ने उससे 10 हजार रुपए जुर्माना भी वसूला. बताया कि पूर्व मुखिया ने उसके मोबाईल और सीम ले लिया. बाद में जुर्माना राशि जमा करने पर मोबाईल और सीम लौटाया गया.

बहरहाल, घटना के बारे में कितनी सत्यता है वह तो पुलिस जांच के बाद ही पता चल सकता है. लेकिन पंचायत द्वारा सजा देना और पुलिस को इस बारे में सूचना न देना बड़ा सवाल है. अगर युवक सच में आरोपी है और मानव तस्करी से जुड़ा है तो लोगों को पुलिस को इसके बारें में जानकारी देना प्राथमिकता है. लेकिन पंचायत ने कुछ भी ऐसा नहीं किया. पुलिस ने भी इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.