close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दरभंगा : 'दही-चूड़ा' भोज के बहाने JDU नेता संजय झा का शक्ति प्रदर्शन, कार्यक्रम में उमड़ी भारी भीड़

दरभंगा के सदर प्रखंड के भालपट्टी में चौपाल सम्मेलन सह मकर संक्रांति समागम समारोह का आयोजन किया गया. 

दरभंगा : 'दही-चूड़ा' भोज के बहाने JDU नेता संजय झा का शक्ति प्रदर्शन, कार्यक्रम में उमड़ी भारी भीड़
दही-चूड़ा भोज के बहाने संजय झा ने दरभंगा में दिखाई ताकत.

दरभंगा : लोकसभा चुनाव को लेकर इस वर्ष मकर संक्रांति के मौके पर आयोजित होने वाले दही-चूड़ा भोज के बहाने नेताओं का शक्ति प्रदर्शन देखने को मिला है. जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय महासचिव संजय कुमार झा ने भी चौपाल जाति सम्मेलन के बहाने ने दरभंगा में अपनी ताकत दिखाई है. मकर संक्रांति के मौके पर आयोजित इस सम्मेलन के बहाने उन्होंने एनडीए में उम्मीदवारी को लेकर अपनी दावेदारी मजबूत किया है. इस दौरान उन्होंने कहा कि बिना सांसद-विधायक बने लागातर 12 वर्षों से दरभंगा की सेवा कर रहा हूं. अब मुझे भी मजदूरी मिलनी चाहिए.

दरभंगा के सदर प्रखंड के भालपट्टी में चौपाल सम्मेलन सह मकर संक्रांति समागम समारोह का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि के तौर पर बिहार राज्य योजना परिषद के सदस्य और जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव संजय झा और विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व विधान पार्षद कामेश्वर चौपाल मौजूद थे. कार्यक्रम में भारी संख्या में चौपाल समाज के लोग शामिल हुए.

वहीं, लोकसभा चुनाव को लेकर दरभगा से संभावित उम्मीदार के तौर पर इस कार्यक्रम में चौपाल समाज के द्वारा जमकर संजय झा के समर्थन में नारेबाजी हुई. संजय झा ने भी नीतीश सरकार के चौपाल समाज को महादलित में शामिल करने की बात करते हुये अपने लिए चौपाल समाज का समर्थन मांगा.

मकर संक्रांति के मौके पर आयोजित इस समारोह में लोगों के लिए चूड़ा-दही और तिलकुट की व्यवस्था की गई थी. वहीं, इस मौके पर पूर्व विधान पार्षद कामेश्वर चौपाल ने कहा कि यदि लोकसभा में जेडीयू मजबूती से जीत का दावा करती है और संजय झा उम्मीदार होते हैं तो एनडीए दरभंगा सीट अवश्य जीतेगी.

वहीं, संजय झा ने आज अपनी मजबूत उम्मीदवारी दरभंगा लोकसभा सीट से दर्ज करवाते हुए कहा कि हर साल मकर संक्रांति को लेकर महाभोज का आयोजन होता आया है. इसी क्रम में नीतीश सरकार द्वारा चौपाल समाज को महादलित में शामिल होने के निर्णय का पांच साल पूरा होने पर आज चौपाल समाज के बीच महाभोज का आयोजन किया गया है. साथ ही उन्होंने कहा कि मैं आगे भी दरभंगा के लिए काम करता रहूंगा. मौका मिला तो यहां गुणवक्ता पूर्ण शिक्षा के साथ-साथ रोजगार के लिए निवेश होगा, ताकि कामगारों को रोजगार के लिए पलायन नहीं होना पड़ेगा.