झारखंडः अजय कुमार बोले- सभी चीजें तय होने के बाद महागठबंधन के दलों का हंगामा करना गलत

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा है कि महागठबंधन में सारी बातें तय होने के बाद दलों का हंगामा करना गलत है.

झारखंडः अजय कुमार बोले- सभी चीजें तय होने के बाद महागठबंधन के दलों का हंगामा करना गलत
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि महागठबंधन में सभी बातें पहले ही तय थी. (फाइल फोटो)

रांचीः चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद सीटों के बंटवारे और टिकट के लिए सभी दलों और नेताओं की कवायद तेज हो गई है. महागठबंधन में टिकट और सीटों की संख्या को लेकर अभी तक सभी चीजें तय नहीं हुई है. ऐसे में महागठबंधन के सभी दलों में खींचतान तेज हो गया है. वहीं, झारखंड में महागठबंधन के अंदर आपसी दलों के बीच ही घमासान मचा है. इस मामले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा है कि महागठबंधन में सारी बातें तय होने के बाद दलों का हंगामा करना गलत है.

झारखंड प्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर अजय कुमार ने कहा कि किसी भी दल को हंगामा करने की कोई ज़रूरत नहीं है. जिनको जो मिलना था वो सब कुछ पहले ही तय हो गया था. सारे दलों के नेता एक साथ बैठकर झारखंड में कौन दल कितने सीटों पर लड़ेगा, इसका पैमाना तय कर लिया गया था. 

उन्होंने कहा कि सब कुछ तय होने के बाद भी इस तरीक़े से हंगामा करना ग़लत है. अजय कुमार ने आरेजडी और जेएमएम के अधिक सीटों की मांग पर दो टुक कहा कि इस तरीक़े से किसी को कुछ भी मांगने का अधिकार नहीं है. सबसे पहली प्राथमिकता होनी चाहिए कि कैसे वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हटाना है और इसके लिए अपने सपनों को प्रभावित करना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी कुर्बानी दे रहा है.

वहीं, कांग्रेस पार्टी के नेताओं द्वारा दिल्ली में टिकट के लिए भीड़ लगाने को लेकर कहा कि उन्हें गणेश परिक्रमा करने की जरूरत नहीं है. जो योग्य और बेहतर होगा उन्हें टिकट जरूर दिया जाएगा. हंगामा करने से कुछ भी हासिल नहीं होगा. 

अजय कुमार ने अपने चुनाव लड़ने के बारे में कहा कि मैंने अपनी सीटें इसलिए छोड़ दी है कि गठबंधन इससे प्रभावित न हो. वहीं, उन्होंने धनबाद सीट से चुनाव लड़ने की बात को भी नकार दिया है. उन्होंने कहा कि धनबाद से चुनाव लड़ने का सवाल ही नहीं है. अगर मैं धनबाद की बात करूंगा तो लोग मुझे भला बुरा कहेंगे.

अजय कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश की बड़ी पार्टी है और हम महागठबंधन के ज़रिए ही चुनाव लड़ना चाहते हैं.