PM मोदी ने हेमंत सोरेन को दी जीत की बधाई, तो BJP नेता ने सोरेन परिवार को बताया लुटेरा

दुनिया भर से लोग हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को बधाई दे रहे हैं, यहां तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर हेमंत को जीत की बधाई दी है. वहीं ऐसे मौके पर बीजेपी की ओर से ऐसा बयान आया है मानो वह हार को पचा नहीं पा रही है. बीजेपी के नेता हेमंत और उनके गठबंधन दलों को बधाई देने के बजाय उनके परिवार पर गंभीर आरोप लगा रही है.

PM मोदी ने हेमंत सोरेन को दी जीत की बधाई, तो BJP नेता ने सोरेन परिवार को बताया लुटेरा
बीजेपी ने हेमंत सोरेन को जीत की बधाई देने के बजाय उनके परिवार पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

नई दिल्ली: झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 (Jharkhand election result 2019) में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) गठबंधन को जीत मिली है तो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) राज्य की सत्ता से बाहर हो गई है. गठबंधन की इस जीत का श्रेय JMM के नेता हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को दिया जा रहा है. दुनिया भर से लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं, यहां तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर हेमंत को जीत की बधाई दी है. वहीं ऐसे मौके पर बीजेपी की ओर से ऐसा बयान आया है मानो वह हार को पचा नहीं पा रही है. बीजेपी के नेता हेमंत और उनके गठबंधन दलों को बधाई देने के बजाय उनके परिवार पर गंभीर आरोप लगा रही है.

बीजेपी को लगता है कि मेहनत में कुछ कमी रह गई. अगर पार्टी ज्यादा मेहनत करती तो कम अंतर से हार वाली सीटें जीतीं जा सकतीं थीं. झारखंड के नतीजों को लेकर भाजपा प्रवक्ता सुदेश वर्मा ने से कहा, 'कई सीटों पर कुछ सौ वोटों के अंतर से हार हुई, इससे लगता है कि कुछ ज्यादा मेहनत करते तो और सीटें ला सकते थे. हमें राज्य में और ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है.'

राज्य में हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के नेतृत्व में बनने जा रही गठबंधन सरकार के सवाल पर सुदेश वर्मा ने कहा कि उन्होंने झारखंड में विकास के एजेंडे को धोखा दिया है. सुदेश वर्मा ने सोरेन परिवार पर हमला बोलते हुए कहा, 'न लोगों का इतिहास झारखंड को लूटने का रहा है. आप जानते हैं कि कुछ रुपयों के लिए झारखंड को बेचा जा चुका है. इन सब परिवेश से निकलकर अगर वे अच्छा काम करते हैं तो हम साथ देंगे, नहीं तो विपक्ष की भूमिका तो निभाएंगे ही.'

आदिवासियों की नाराजगी के सवाल पर सुदेश वर्मा ने कहा, 'हमने ऐसा कोई काम नहीं किया कि कोई वर्ग नाराज हो. आजसू के बगैर चुनाव लड़ने के बाद भी पार्टी को हासिल हुए अच्छे वोट शेयर से पता चलता है कि जनता नाराज नहीं है, हां मेहनत में जरूर थोड़ी कमी रह गई. जहां तक काम की बात है तो पिछले पांच साल में भाजपा ने झारखंड को बदल दिया.'

मालूम हो कि झारखंड विधानसभा चुनाव में जेएमएम को सबसे ज्यादा 30 सीटों पर जीत मिली है. जबकि कांग्रेस 16 और आरजेडी 1 सीट जीतने में सफल हो पाई है. वहीं, बीजेपी 25 सीटों पर सिमट गई है. नतीजों के मुताबिक, राज्य में महागठबंधन की सरकार बनेगी. महागठबंधन ने 81 सीटों में से 47 सीटों पर जीत दर्ज की है.

ये भी देखें-: