महागठबंधन में सम्मानजनक सीट नहीं मिली तो नहीं लड़ूंगा चुनावः जीतनराम मांझी

जीतनराम मांझी ने फिर से महागठबंधन में सम्मानजनक सीट की मांग की है.

महागठबंधन में सम्मानजनक सीट नहीं मिली तो नहीं लड़ूंगा चुनावः जीतनराम मांझी
जीतनराम मांझी ने सम्मानजनक सीट की मांग की है. (फाइल फोटो)

पटनाः चुनाव आयोग ने मतदान की तारीखों का ऐलान कर दिया है, लेकिन बिहार महागठबंधन में सीट शेयरिंग का फॉर्मूला अभी पूरी तरह से फायनल नहीं हो पाया है. हालांकि सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि महागठबंधन में आरजेडी को 18 सीट, कांग्रेस को 13 सीट और बाकी दलों को एक-एक सीट देने की बात सामने आ रही है. वहीं, आरएलएसपी को तीन सीट मिलने के बात भी सामने आई है. इस बीच जीतनराम मांझी ने कहा है कि उन्हें सम्मानजनक सीट चाहिए.

हम पार्टी प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने एक सीट मिलने की बात को नकार दिया है. उन्होंने कहा कि हमें ऐसी कोई बात नहीं पता है. वहीं, उन्होंने सम्मानजनक सीट भी मांग करते हुए कहा कि अगर महागठबंधन में सम्मानजनक सीट नहीं मिली तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा.

मांझी ने कहा उन्हें आरजेडी और कांग्रेस के बाद सभी घटक दलों से अधिक सीट चाहिए. अगर उन्हें ऐसा सम्मानजनक सीट नहीं मिलता है तो वह चुनाव में नहीं उतरेंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि चुनाव नहीं लड़ूंगा लेकिन महागठबंधन को सपोर्ट करूंगा. ऐसे में यह साफ है कि मांझी महागठबंधन में सीटों के लिए कड़ा दवाब बना रहे हैं. लेकिन महागठबंधन उन्हें बीच मजधार में न छोड़े इसलिए उन्होंने गठबंधन को सपोर्ट करने की बात कह रही है.

वहीं, सूत्रों के हवाले से खबर है कि आरएलएसपी को तीन सीट दिए जा सकते हैं. ऐसे में जीतनराम मांझी को अगर आरएलएसपी से कम सीट मिलता है तो यह उनके लिए अहम की बात होगी. वहीं, अगर कुशवाहा को मांझी से कम सीट मिलती है तो इससे कुशवाहा को भी बड़ी ठेस लग सकती है, क्योंकि तीन सीट की बात पर ही कुशवाहा एनडीए छोड़ महागठबंधन में शामिल हुए थे.

हालांकि खबर यह भी है कि आरएलएसपी को कांग्रेस अपनी तरफ से सीट दे सकती है. जिससे उन्हें तीन सीट मिलना तय माना जा रहा है.

बहरहाल, देखना यह है कि जीतनराम मांझी सीटों के लिए जो महागठबंधन में दवाब बना रहे हैं. वह सफल होता है या नहीं, और अगर सम्मानजनक सीट मांझी को नहीं मिलती है तो वह आगे क्या रास्ता अपनाएंगे.