झारखंडः JMM ने महागठबंधन पर विचार के लिए बुलाई विपक्षी दलों की बैठक

जेएमएण पार्टी ने झारखंड में महागठबंधन पर विचार करने के लिए गुरुवार को बैठक बुलाई है.

झारखंडः JMM ने महागठबंधन पर विचार के लिए बुलाई विपक्षी दलों की बैठक
जेएमएण ने विपक्षी पार्टियों को महागठबंधन पर विचार करने के लिए बैठक बुलाई है. (फाइल फोटो)

रांचीः झारखंड में महागठबंधन को लेकर अभी भी खीचतान चल रही है. वहीं, सीट शेयरिंग भी बड़ा मुद्दा है. जिसके लिए अब तक किसी तरह की बातें साफ नहीं हुई है. वहीं, अब झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विरुद्ध विपक्ष के महागठबंधन पर चर्चा के लिए गुरुवार को विपक्षी पार्टियों की बैठक बुलाई है. 

जेएमएम के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा, "हमारी पार्टी ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बनाने पर चर्चा के लिए विपक्षी पार्टियों की बैठक बुलाई है."

माना जा रहा है कि बैठक को उत्तर प्रदेश जैसी स्थिति को टालने के लिए बुलाया जा रहा है, जहां सपा-बसपा गठबंधन से बाहर रह गई कांग्रेस ने कहा है कि वह अकेले सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

जेएमएम नेता ने कहा कि पार्टी नहीं चाहती कि विपक्षियों में विभाजन की वजह से भाजपा विरोधी वोट बंटे.

कोलीबेरा विधानसभा चुनाव नतीजे से उत्साहित कांग्रेस झारखंड में लोकसभा सीटों का बड़ा हिस्सा चाहती है. पार्टी झारखंड की 14 लोकसभा सीटों में से कम से कम 7 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है.

कांग्रेस की झारखंड इकाई के महासचिव किशोर सहदेव ने कहा, "हमें बैठक के लिए निमंत्रण प्राप्त हुआ है. हम भी एक महागठबंधन चाहते हैं. देखते हैं कि बैठक में क्या होता है."

कांग्रेस सूत्रों ने कहा है कि जेएमएम चाहती है कि 2019 विधानसभा चुनावों के लिए हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के तौर पर स्वीकार किया जाए.

सूत्रों ने कहा कि पार्टी नेता मौजूदा परिप्रेक्ष्य में जेएमएम उम्मीदवार के नेतृत्व को स्वीकारने के पक्ष में नहीं हैं.

2014 लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां की 14 सीटों में से 12 पर जीत दर्ज की थी.

(इनपुटः आईएएनएस)