बिहार : कुत्ते की मौत से गम में डूबा मोहल्ला, इंसानोंं की तरह दी गई अंतिम विदाई
topStorieshindi

बिहार : कुत्ते की मौत से गम में डूबा मोहल्ला, इंसानोंं की तरह दी गई अंतिम विदाई

टॉमी वफादार के साथ-साथ समझदार भी था. मोहल्ले में गंदगी भी नहीं फैलाता था.

बिहार : कुत्ते की मौत से गम में डूबा मोहल्ला, इंसानोंं की तरह दी गई अंतिम विदाई

आकाश/सीवान : कहा जाता है कि कुत्ता सबसे वाफादार जानवर होता है. इसलिए लोग उसे पालते हैं. आज हम आपको जो कहानी बताने जा रहे हैं वह था तो पालतू ही, लेकिन किसी एक घर का नहीं, बल्कि पूरे मोहल्ले का. उसकी मौत हो गई, जिससे पूरा मौहल्ला शोकाकुल है. उसकी अंतिम विदाई काफी अनोखे अंदाज में दी गई.

यह तस्वीर है उस कुत्ते की है जो किसी एक घर का नहीं, बल्कि पूरे मोहल्ले का टॉमी था. हर घर से उसके लिए एक वक्त का खाना निकाला जाता था. टॉमी वफादारी में कोई कसर नहीं छोड़ता, हर घर की रखवाली करता था.

रात को मोहल्ले में किसी भी अनजान व्यक्ति की आहट से वह भौंकने लगता और उसके खदेड़ देता था. इतना ही नहीं, वह वफादार के साथ-साथ समझदार भी था. मोहल्ले में गंदगी भी नहीं फैलाता था. 16 सालों के बाद उसकी मौत हो गई. पूरा मोहल्ला शोकाकुल हो गया.

इसकी अंतिम विदाई इंसानों की तरह दी गई. मोहल्ले के युवाओं ने अर्थी पर उसे कब्रिस्तान पहुंचाया. फिर गड्ढा खोदकर उसमें कुत्ते की कफन में लिपटी लाश को रखकर नमक डाला. अगरबत्ती जलाई गई. फिर ऊपर से मिट्टी डालकर अंतिम विदाई दी गई. टॉमी के मर जाने पर सीवान के पटवाटोली, मालिक टोला के लोग काफी उदास हैं.

लाइव टीवी देखें-:

Trending news