close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महागठबंधन की बैठक में नहीं बुलाने से नाराज लेफ्ट का बड़ा ऐलान, कहा - 'हम 13 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव'

महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की पहली औपचारिक बैठक सोमवार को पूर्व उपमुख्यमंत्री और लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव के पटना स्थित आवास पर आयोजित की गई है. 

महागठबंधन की बैठक में नहीं बुलाने से नाराज लेफ्ट का बड़ा ऐलान, कहा - 'हम 13 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव'
सत्यनारायण ने कहा है कि हम महागठबंधन के साथ हैं और बीजेपी को हराना एक-दो पार्टी के बस की बात नहीं.

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से रांची में मुलाकात के बाद महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की पहली औपचारिक बैठक सोमवार को पूर्व उपमुख्यमंत्री और लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव के पटना स्थित आवास पर आयोजित की गई. लेकिन इस बैठक में लेफ्ट पार्टीज को नहीं बुलाया गया है जिसे लेकर सियासी गलियारे में हलचल मची हुई है. 

इसे मुद्दे पर सीपीआई राज्य सचिव सत्यनारायण ने नाराजगी जरूर जताई है लेकिन साथ ही ये भी कहा है कि ये मीटिंग तेजस्वी यादव के साथ है और असल मीटिंग तो लालू यादव के साथ होगी. बीजेपी को हराना एक या दो दलों के बस की बात नहीं है. साथ ही सत्यनारायण ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि हम महागठबंधन के साथ हैं.   लेफ्ट पार्टी 13 सीटों पर चुनाव लड़ेगी लेकिन गठबंधन में 1 या 2 सीट आगे पीछे हो सकती है.

महागठबंधन की इस मीटिंग में कांग्रेस से शक्ति सिंह गोहिल, मदन मोहन झा, सदानंद सिंह मौजूद हैं तो वहीं, आरजेडी से तेजस्वी यादव, अब्दुल बारी शिद्दीकि, शिवानंदन तिवारी मौजूद हैं. साथ ही आरएलएसपी के उपेंद्र कुशवाहा और हम पार्टी से जीतनराम मांझी भी इस मीटिंग में शामिल हुए.

इस बैठक में महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं के बीच आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार की 40 सीटों को लेकर आपस में चर्चा होने की संभावना जताई जा रही है. इस बैठक में सभी दलों के बीच औपचारिक सहमति बनने के बाद सीट साझेदारी के फार्मूले को मूर्त रूप दिया जा सकता है.

उल्लेखनीय है कि शनिवार को कुशवाहा, मांझी और शरद यादव रांची जाकर चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद से मुलाकात कर चुके हैं. कांग्रेस नेताओं में पार्टी के झारखंड प्रभारी सुबोधकांत सहाय और बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शकील अहमद भी लालू से मिल चुके हैं. माना ये भी जा रहा है कि सीट बंटवारें की घोषणा खरमास के बाद हो सकती है, हालांकि मीटिंग के बाद ही कुछ तस्वीर साफ हो पाएगी.