बिहार: किशनगंज में मुस्लिम समुदाय ने मंदिर बनाने के लिए दी जमीन, पेश की मिसाल

दोनों समुदाय के लोगों ने गांव में एक बैठक कर मंदिर निर्माण का फैसला लिया और गांव के मुस्लिम जमींदार अधिवक्ता तुफैल गनी आगे आये और सड़क किनारे मंदिर निर्माण के लिए अपनी कीमती जमीन दान में देने का फैसला लिया.

बिहार: किशनगंज में मुस्लिम समुदाय ने मंदिर बनाने के लिए दी जमीन, पेश की मिसाल
अब युद्ध स्तर पर मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है.

किशनगंज: बिहार के किशनगंज में मुस्लिमों सांप्रदायिक सौहार्द की नई मिशाल पेश की है. जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दुरी पर स्थित सिंघिया गांव में प्रस्तावित भव्य काली मंदिर के निर्माण लिए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपनी जमीन दान में दे दी है. इस गांव में मां काली जी का मंदिर नही होने से खास कर गांव के हिन्दू महिलाओं को दस किलोमीटर की दूरी तय कर काली जी का दर्शन और पूजा अर्चना के लिए जाना पड़ता था.

बाद में दोनों समुदाय के लोगों ने गांव में एक बैठक कर मंदिर निर्माण का फैसला लिया और गांव के मुस्लिम जमींदार अधिवक्ता तुफैल गनी आगे आये और सड़क किनारे मंदिर निर्माण के लिए अपनी कीमती जमीन दान में देने का फैसला लिया और अब युद्ध स्तर पर मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है. जिस निर्माण कार्य के लिए दोनों समुदाय के लोग शामिल हैं.

LIVE TV Code :

इस गांव में हिन्दू मुस्लिम आपस में भाई भाई की तरह रहते है. चाहे दीपावली हो या ईद दोनों समुदाय के लोग एक दूसरे के पर्व में हाथ बांटकर एकता का बेमिसाल उधारण पेश कर रहे है. आपकों बता दे की इस गांव में हिन्दू की संख्या कम है ,बाबजूद इसके मुस्लिम भाई ही मंदिर बनवा रहे हैं.

मुस्लिम परिवार के सरहनीय काम की तारीफ सारा समाज कर रहा है. आपसी सद्भावना की मिसाल पेश करती यह घटना उनके मुंह पर एक जोड़दार तमाचा है. जो हमारे देश के  सदभाव और एकता को बिगाड़ना चाहते हैं.