close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः बच्चों की मौत से दुखी नित्यानंद राय बोले- नहीं होगा BJP सांसद और मंत्रियों का स्वागत

नित्यानंद राय ने कहा कि वो AES से पीड़ित बच्चों की मौत से दुखी हैं. उन्होंने ऐलान किया कि दो सप्ताह तक बीजेपी सांसदों और मंत्रियों का स्वागत समारोह और सम्मान समारोह नहीं किया जाएगा.

बिहारः बच्चों की मौत से दुखी नित्यानंद राय बोले- नहीं होगा BJP सांसद और मंत्रियों का स्वागत
नित्यानंद ने कहा वह बच्चों के मौत से काफी दुखी हैं.

पटनाः मंत्री पद की शपथ लेने के बाद केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय  बिहार दौरे पर पहुंचे. पटना एयरपोर्ट पर सैकड़ों कार्यकर्ता हाथ में फूल -माला लिए खड़े थे लेकिन नित्यानंद राय ऐयरपोर्ट से बाहर निकलने के बाद फूल - माला लेने से मना कर दिया. नित्यानंद राय ने कहा कि वो AES से पीड़ित बच्चों की मौत से दुखी हैं. उन्होंने ऐलान किया कि दो सप्ताह तक बीजेपी सांसदों और मंत्रियों का स्वागत समारोह और सम्मान समारोह नहीं किया जाएगा.

मुजफ्फरपुर में AES से पीड़ित बच्चों की मौत को लेकर बिहार बीजेपी के अध्यक्ष और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बड़ी बात कही. मंत्री बनने के बाद पहली बार बिहार दौरे पर पहुंचे नित्यानंद राय ने कहा है कि दो सप्ताह तक बीजेपी सांसदों और मंत्रियों स्वागत समारोह नहीं किया जायेगा. 

उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी अपील किया कि पार्टी नेता और कार्यकर्ता जीत का जश्न नहीं मनायें. केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार बिहार आने को लेकर पार्टी कार्यकर्ता फूल माला लेकर पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे थे. लेकिन नित्यानंद राय ने फूल-माला लेने से मना कर दिया. 

बिहार के मुजफ्फरपुर में हो रही बच्चों की मौत पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार मामले को गंभीरता से देख रही है. ऐयरपोर्ट से सीधे  पार्टी कार्यालय पहुंचे उसके बाद वो  मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों की हालात का जायजा लेने के लिए मुजफ्फरपुर पहुंचेंगे. 

सूचना के मुताबिक, कल केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी मुजफ्फरपुर पहुंचेंगे. शुक्रवार को बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने SKMCH पहुंचे थे और बच्चों का जायजा लिया. उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक भी की थी. दरअसल, मुजफ्फरपुर और आसपास के जिलों में AES का कहर जारी है. बच्‍चों की मौत की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. मुजफ्फरपुर के SKMCH में AES पीड़ित बच्चों के आने का सिलसिला जारी है.