बिहार में शीतलहर जारी, फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, शीतलहर की वजह पश्चिमी क्षेत्र में विक्षोभ की सक्रियता है. केंद्र के मुताबिक, अगले एक सप्ताह तक ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है.

बिहार में शीतलहर जारी, फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं
मौसम विभाग ने कहा है कि अगले 7 दिनों तक राहत की कोई उम्मीद नहीं है. (तस्वीर साभार-आईएएनएस)

पटना: बिहार शीतलहर की चपेट में है. मौसम विभाग ने कहा है कि अभी अगले सात दिनों तक राहत की कोई उम्मीद नहीं है. दो-तीन जनवरी को बारिश की संभावना है. कड़ाके की ठंड से जनजीवन अस्त-व्यस्त है. पटना समेत राज्य के लगभग सभी जिलों में तापमान में लगातार गिरावट हो रहा है. पिछले 24 घंटों के दौरान तापमान में भारी गिरावट आई है.

मौसम विभाग के मुताबिक, मंगलवार को गया में न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि पटना में 5.0 डिग्री, भागलपुर में 5.4 डिग्री और पूर्णिया का न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. 

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, शीतलहर की वजह पश्चिमी क्षेत्र में विक्षोभ की सक्रियता है. केंद्र के मुताबिक, अगले एक सप्ताह तक ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है.

मौसम विभाग के अनुसार, 'पूर्वी उत्तर प्रदेश और झारखंड में दो से चार जनवरी तक बारिश की संभावना है, जिसका असर बिहार के सीमावर्ती क्षेत्र में रहेगा. बादल छाए रहेंगे. कुछ जगहों पर बूंदाबांदी हो सकती है.'

घने कोहरे और कड़ाके की ठंड से ट्रेनों के परिचालन पर गंभीर असर दिखने लगा है. सोमवार को पटना से गुजरने वाली करीब सभी ट्रेनें देर से गुजरीं, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा. देर शाम राजधानी का पारा जैसे-जैसे कम होने लगा, लोगों की परेशानी बढ़ने लगी.

बिहार के गया का मंगलवार को अधिकतम तापमान 13 से 14 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है. गया का सोमवार को अधिकतम तापमान 12.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.