close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड मॉब लिंचिंग: पोस्टमार्टम में नहीं चला मौत के कारणों का पता, बिसरा भेजा गया रांची

तबरेज के परिजनों का कहना है कि वो घर से अपनी बुआ के यहां जमशेदपुर जाने के बहाने घर से निकला था लेकिन सुबह में उसके पत्नी के फोन पर मोबाइल पर कॉल आया कि उसके पति की स्थिति गंभीर है और उसे अस्पताल ले जाया गया है.  

झारखंड मॉब लिंचिंग: पोस्टमार्टम में नहीं चला मौत के कारणों का पता, बिसरा भेजा गया रांची
पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

सरायकेला: झारखंड के सरायकेला स्तिथ खरसांवा जिले में कथित रूप से चोरी के शक में एक युवक को भीड़ ने बुरी तरह पीटा जिससे उसकी मौत हो गई. पिटाई के 18 घंटे बाद कथित चोर को पुलिस के हवाले किया गया था. वहीं, मौत और पिटाई के वायरल वीडियो के सामने आने के बाद मामले में कार्रवाई शुरू हुई है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

वहीं, आज तबरेज की मौत के मामले में सिविल सर्जन ने पोस्टमार्टम में मौत के कारणों का नहीं पता चल पाया है. बिसरा को रांची जांच के लिए भेजा गया है जिसकी रिपोर्ट 15 दिनों के बाद आएगी. रिपोर्ट में ही पूरे मामले का खुलासा होगा कि आखिर मौत किन कारणों की वजह से हुई. 
फिलहाल और भी कई बिंदुओं पर जांच चल रही है कि जब तबरेज फिट था तो अचानक मौत कैसे हो गई. वहीं, आज राज्य अल्पसंख्यक आयोग की टीम तबरेज के घर और गांव पहुंची जहां इस वारदात को अंजाम दिया गया था. तबरेज के परिजन एक ही रट लगा रहे हैं हमे न्याय कौन दिलाएगा हमे न्याय चाहिए. 

तबरेज के परिजनों का कहना है कि वो घर से अपनी बुआ के यहां जमशेदपुर जाने के बहाने घर से निकला था लेकिन सुबह में उसके पत्नी के फोन पर मोबाइल पर कॉल आया कि उसके पति की स्थिति गंभीर है और उसे अस्पताल ले जाया गया है.

तबरेज के परिजनों की मानें तो इस पूरी घटना में पुलिस की लापरवाही सबसे अधिक सामने आती है और डॉक्टरों की भी मिलीभगत होने की सूचना आरोप लगा रहे हैं. तबरेज के परिजन जेल प्रबंधन पर भी लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं उनका कहना है कि जेल में अगर स्थिति खराब हुई तो उसे बेहतर इलाज के लिए तुरंत बाहर भेजना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं किया गया जब उसकी स्थिति बिगड़ गई तब उसे सदर अस्पताल लाया गया. 

तबरेज पुणे में रहकर वेल्डर का काम किया करता था ईद में छुट्टी मनाने घर आया था कुछ ही महीने तबरेज की शादी हुई थी. घटना की सूचना मिलने के बाद तबरेज की पत्नी का हालत खराब है उसे मायके के लोग आकर सांत्वना दे रहे हैं लेकिन परिजनों का कहना है कि इसके आगे पीछे देखने वाला कोई नहीं है.