रांची: JVM बोली- 65 नहीं, झारखंड के पार होगी BJP, PM मोदी इसलिए उठा रहे राष्ट्रीय मुद्दे

भूपेंद्र सिंह ने कहा कि यहां की जनता तय कर चुकी है. बीेजेपी इस बार 65 पार नहीं, जनता उनको झारखंड से पार करने वाली है इसलिए ऐसे मुद्दे उठा रहे हैं.

रांची: JVM  बोली- 65 नहीं, झारखंड के पार होगी BJP, PM मोदी इसलिए उठा रहे राष्ट्रीय मुद्दे
जेवीएम ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.

रांची: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand assembly election) को लेकर राज्य के दौरे पर हैं. मंगलवार को झारखंड के खूंटी और जमशेदपुर में अपने भाषण के दौरान उन्होंने कांग्रेस (Congress) और जेएमएम (JMM) पर निशाना साधा. साथ ही रघुवर दास (Raghubar Das) सरकार की तारीफ की.

इस दौरान पीएम मोदी ने केंद्र सरकार के द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370), अयोध्या राम मंदिर (Ayodhya Ram Temple) जैसे मुद्दे को जनसभा में संबोधित कर सियासी गलियारों में तापमान बढ़ा दिया है. इस पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पूरे कैबिनेट इस छोटे से प्रदेश में ताकत लगाई हुई है और प्रधानमंत्री कह रहे हैं महिलाओं को दोहरा लाभ मिला है. 

आलोक दुबे ने कहा कि कि एक तरफ महिलाएं दुष्कर्म की शिकार हो रही हैं. वहीं, दूसरी तरफ मौत के घाट उतारा जा रहा है. झारखंड में पिछले 5 वर्षों में जो साढ़े चार हजार एफआईआर दर्ज हुए हैं और साढ़े 6 हजार छेड़खानी के मामले दर्ज हुए हैं. यह इनकी उपलब्धि है और उपलब्धियों पर चर्चा ना कर राष्ट्रीय मुद्दे प्रभावकारी नहीं हैं. यहां आदिवासी समाज पूछता है हमारे जमीनों को औद्योगिक घरानों को क्यों दिया गया. 

कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी किसानों की बात कर रही है, लेकिन किसानों की आत्महत्या इनके सरकार के कार्यकाल में सबसे ज्यादा हो रही है. जबकि हमारी छत्तीसगढ़ में सरकार है. हमने वहां सबसे पहले आदिवासियों की रैयतों की जमीन को वापस करने का काम किया है.

वहीं, जेएमएम के प्रवक्ता मनोज पांडे ने कहा कि जो परंपरा भारतीय जनता पार्टी ने शुरू किया है. इस देश में पहले भी प्रधानमंत्री देखे हैं. दिग्गज प्रधानमंत्री देखा है, लेकिन कभी भी विधानसभा चुनाव के राज्यों में इस तरह का चुनाव प्रचार एक प्रधानमंत्री के द्वारा कहीं न कहीं उनकी हताशा और निराशा का परिचायक है. लगता है 9 से 10 चुनाव सभा का प्रस्ताव है. ऐसे में आप समझ सकते हैं कि भारतीय जनता पार्टी की स्थिति कितनी खस्ताहाल है.

 जेएमएम नेता ने कहा कि पीएम स्थानीय मुद्दे को छोड़कर राष्ट्रीय मुद्दे 370 की बात करते हैं. मंदिर की बात करते हैं. पाकिस्तान की बात करते हैं. यह बड़ा ही अफसोस जनक है. यहां के मुद्दे पर जवाब कौन देगा. प्रधानमंत्री महोदय के यहां के सरकार की उपलब्धि के बारे में बात करनी चाहिए. यहां के सरकार जो वादे करके जनता के साथ छलावा किया है, गलत स्थानीय स्थिति लाई है. जीरो पावर कट बिजली आज तक नहीं मिल रही है. पेयजल, आतंकवाद, उग्रवाद और बेरोजगारी की समस्या है. पांडे ने कहा कि पीएम युवाओं को क्या संदेश देना चाहते हैं. प्रधानमंत्री मोदी जनता को बरगलाना चाहते हैं.

जेवीएम के युवा अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि बीजेपी हमेशा झूठ की परिवाची रही हैं. झारखंड के अंदर चुनाव हो रहे हैं. इस झारखंड के स्थानीय मुद्दों को नहीं लेकर यह देश स्तर के मुद्दे को उछल रहे हैं. इनसे पूछना चाहिए कि क्या यहां पर पलायन रोक पाए. यहां पर शिक्षा का स्तर 5 साल में कैसा है. महिलाओं को सुरक्षा मिल नहीं पा रही है. यहां पर अस्पताल की सुविधा हो पाई कि नहीं, इनके पास गिनाने के लिए कुछ है नहीं. यहां की जनता के दिमाग को डायवर्ट करना चाह रहे हैं.

भूपेंद्र सिंह ने कहा कि यहां की जनता तय कर चुकी है. पहला चरण का चुनाव हो चुका है और चार फेज की वोटिंग बाकी है. इस बार 65 पार नहीं, जनता उनको झारखंड से पार करने वाली है इसलिए ऐसे मुद्दे उठा रहे हैं.