तेजस्वी यादव का बड़ा बयान, बोले- सिद्धांतों से समझौता कर लेते तो आज सीएम RJD का होता

तेजस्वी यादव ने यहां सोमवार को कहा कि आरजेडी कभी भी नीति और सिद्धांतों से समझौता नहीं कर सकती. उन्होंने कहा कि अगर आरजेडी नीति और सिद्धांतों से समझौता कर लेता तो आज मुख्यमंत्री आरजेडी का होता.

तेजस्वी यादव का बड़ा बयान, बोले- सिद्धांतों से समझौता कर लेते तो आज सीएम RJD का होता
तेजस्वी के इस बयान के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है और कई कयास लगाए जा रहे हैं. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने यहां सोमवार को कहा कि आरजेडी कभी भी नीति और सिद्धांतों से समझौता नहीं कर सकती. उन्होंने कहा कि अगर आरजेडी नीति और सिद्धांतों से समझौता कर लेता तो आज मुख्यमंत्री आरजेडी का होता.

 बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी ने विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन विधानसभा परिसर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, 'हमने कभी अपनी नीति और सिद्धांतों से समझौता नहीं किया, ना करेंगे. आरजेडी ने सिद्धांतों से समझौता कर लिया होता तो सुशील कुमार मोदी जिस पद पर हैं, उसी पर होते, लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नहीं, आरजेडी का कोई नेता होता.'

तेजस्वी के इस बयान के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है तथा तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. तेजस्वी के इस बयान के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी ने आरजेडी, कांग्रेस और जेडीयू की सरकार गिराने से पहले आरजेडी से संपर्क किया था, जिसमें आरजेडी को मुख्यमंत्री पद का प्रस्ताव दिया गया था. हालांकि इस मसले पर कोई भी कुछ नहीं बोल रहा है. 

बहरहाल, तेजस्वी का बयान आने के बाद बिहार की राजनीति एकबार फिर से गर्म होने की संभावना जताई जा रही है. 

वर्ष 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी, कांग्रेस और जेडीयू महागठबंधन को बहुमत मिला था और नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने थे तथा आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद के दोनों पुत्र मंत्री बनाए गए थे. इसके 20 महीने के बाद ही यह सरकार गिर गई थी और फिर बीजेपी की मदद से नीतीश मुख्यमंत्री बने थे.