बिहार: मंत्री जनक राम के 'लेटर बम' से मचा हड़कंप, कांग्रेस बोली-आपदा में अवसर तलाश रही BJP

Bihar Politics: बीजेपी कोटे के मंत्री जनक राम के एक लेटर ने सियासी बवाल खड़ा कर दिया है. जनक राम ने भी दो जिलों के डीएम को पत्र लिखकर एक बच्ची का धर्म परिवर्तन कराए जाने का आरोप लगाया है.    

बिहार: मंत्री जनक राम के 'लेटर बम' से मचा हड़कंप, कांग्रेस बोली-आपदा में अवसर तलाश रही BJP
मंत्री जनक राम के लेटर से मचा हड़कंप (फाइल फोटो)

Patna: बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल ने हाल ही में दलित मुस्लिम विवाद का खुले तौर पर जिक्र किया था. इस दौरान उन्होंने पुलिस पर पक्षपात करने का आरोप भी लगाया था. ऐसे में अभी यह मामला शांत नहीं हुआ था कि बीजेपी कोटे के मंत्री जनक राम के एक लेटर ने सियासी बवाल खड़ा कर दिया है.

जनक राम ने भी दो जिलों के डीएम को पत्र लिखकर एक बच्ची का धर्म परिवर्तन कराए जाने का आरोप लगाया है. इधर, एनडीए की सहयोगी पार्टी के नेता जीतन राम मांझी ने इशारों में बीजेपी पर दो धर्मों के बीच बेवजह विवाद खड़ा करने का आरोप लगाकर सियासी गलियारे में कयासों के बाजार को गर्म कर दिया है.

दरअसल, बिहार सरकार में खान भूतत्व मंत्री जनक राम ने गोपालगंज और जमुई जिले के डीएम को पत्र लिखा है. इसमें उन्होंने इस बात का जिक्र है कि किस तरह एक विशेष समाज की लड़की का अपहरण कर उसका धर्म परिवर्तन लोगों द्वारा किया गया है.

इस पत्र के सामने आते ही बिहार में सियासत गर्म हो गयी है. क्योंकि ठीक इस चिट्ठी से पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने भी अल्पसंख्यक समाज पर एक विशेष जाति को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. वहीं, मंत्री जनक राम कहते हैं कि पीड़ित परिवार ने मुझसे संपर्क किया था. मैंने जिलाधिकारी को पत्र लिखा. एसपी ने तुरंत कार्रवाई की है.

उन्होंने कहा कि कई दिनों से देखा जा रहा कि कुछ जिलों में इस तरह की घटना हुई है. हम सरकार के अंग हैं. ऐसे में आवाज उठाना हमारा अधिकार है. मंत्री ने कहा कि पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत पर कार्रवाई नहीं की तो मजबूरी में मुझे हस्तक्षेप करना पड़ा. ये सिर्फ एक जिले की घटना नहीं है. कई जिलों से इस तरह की शिकायतें आ रही हैं. हमारी सरकार में किसी भी व्यक्ति के साथ अत्याचार नहीं होने दिया जाएगा. 

इधर. मंत्री के पत्र को लेकर सियासत भी तेज हो गयी है. आरजेडी ने बीजेपी और जेडीयू दोनों को कटघरे में खड़ा किया है. आरजेडी के मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि मामले पर नीतीश कुमार को जवाब देना चाहिए. सिर्फ लालू प्रसाद को गाली देने से काम नहीं चलेगा. बीजेपी दंगाई पार्टी है जो बिहार में माहौल खराब कर रही. अपने एजेंडे पर बिहार में काम कर रही है. 

वहीं, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा है कि बीजेपी आपदा में अवसर तलाश रही रही है. अभी सभी धर्म सम्प्रदाय के लोग एक-दूसरे की जान बचाने में लगे हैं और बीजेपी आपसी विवाद बढ़ाने में लगी है. धर्म परिवर्तन किसी व्यक्ति की अपनी इच्छा का मामला होता है. अगर किसी को दूसरे धर्म में आस्था है तो वो क्यों धर्म परिवर्तन नहीं कर सकता.

ये भी पढ़ें- RJD पर रामचन्द्र पूर्वे की अनदेखी का आरोप, BJP बोली-वोट की राजनीति करने वाली पार्टी में परिवार हावी

जेडीयू पूरे मामले में डिफेंसिव मोड में नजर आ रही है. जदयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा है कि बिहार में नीतीश कुमार के राज में क्राइम के साथ समझौता नहीं हुआ है. नीतीश कुमार के राज में सभी जाति धर्म सम्प्रदाय के लोग अच्छे माहौल में रह रहे हैं. अगर कहीं अपराध होता है तुरंत करवाई भी होती है.

इन सभी बयानों के बीच एनडीए की सहयोगी पार्टी हम का बड़ा बयान सामने आया है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने ट्वीट किया है कि 'बिहार में दलित-मुस्लिम एकजुट हैं. दलित-मुस्लिम एकता से जिन लोगों की पेट में दर्द हो रहा है. वहीं बिहार सरकार पर उंगली उठा रहे हैं. बिहार में कानून अपना काम कर रहा है.'