राज्य में 15 स्थानों पर ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगा रहा केंद्रः मंगल पांडेय

Bihar Samachar: पांडेय ने कहा कि 'अब नई व्यवस्था के तहत आवंटन की मात्रा का 50 प्रतिशत भाग सिविल सर्जन द्वारा जिलातंर्गत जिला के सरकारी अस्पतालों में उपयोग करने एवं शेष 50 प्रतिशत चिह्नित निजी अस्पतालों में इलाजरात रोगियों के लिए निर्देशित किया गया है.'  

राज्य में 15 स्थानों पर ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगा रहा केंद्रः मंगल पांडेय
राज्य में 15 स्थानों पर ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगा रहा केंद्रः मंगल पांडेय (फाइल फोटो)

Patna: स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि 'केंद्र सरकार ने जहां बिहार के लिए रेडमेसिविर इंजेक्शन का कोटा बढ़ा दिया है, वहीं राज्य की 15 जगहों पर आॅक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाने की प्रक्रिया की शुरूआत कर दी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पूर्व में 21 अप्रैल से 9 मई तक बिहार को आवंटित रेमडेसिविर इंजेक्शन का कोटा बढ़ाकर अब 21 अप्रैल से 16 मई तक एक लाख 50 हजार कर दिया गया है. दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन की जिलेवार आवंटन में परिवर्तन किया है.'

पांडेय ने कहा कि 'अब नई व्यवस्था के तहत आवंटन की मात्रा का 50 प्रतिशत भाग सिविल सर्जन द्वारा जिलातंर्गत जिला के सरकारी अस्पतालों में उपयोग करने एवं शेष 50 प्रतिशत चिह्नित निजी अस्पतालों में इलाजरात रोगियों के लिए निर्देशित किया गया है. पटना जिला सिविल सर्जन को आवंटित रेमडेसिविर इंजेक्शन के कुल आवंटन का 20 प्रतिशत भाग का उपयोग सरकारी अस्पताल में किया जाएगा. शेष 80 प्रतिशत भाग पटना जिला के चिह्नित निजी अस्पतालों में इलाजरत मरीजों के लिए पूर्व में निर्धारित व्यवस्था के तहत आवंटित किया जाएगा. जबकि पटना को छोड़कर अन्य जिलों में यह अनुपात 50-50 प्रतिशत का रहेगा.'

र्जन एवं सहायक औषधि निरीक्षक द्वारा समान रूप से करेंगे. विभिन्न स्त्रोतों से ऐसी सूचना प्राप्त हो रही थी कि निजी अस्पतालों को पूर्व में उपलब्ध कराए गए रेमडेसिविर इंजेक्शन की पूर्ण खपत किए बिना ही औषधि के लिए पुनः अधियाचना कर दी जा रही थी. जिसके आलोक में अब नई व्यवस्था के तहत सीएस इस बात की सत्यता जांच लेंगे कि पूर्व में उपलब्ध कराए गए रेमडेसिविर का पूर्ण उपयोग कर लिया गया है कि नहीं. उपयोग किए गए इंजेक्शन की विवरणी निजी अस्पतालों को सीएस को समर्पित करनी होगी.'

ये भी पढ़ें- मंगल पांडेय ने बताया 24x7 हेल्पलाइन नंबर, कोरोना मरीज शिकायत व मदद के लिए इस नंबर पर करें कॉल     

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि 'भारत के सरकार द्वारा राज्य के क्रमशः 15 जगहों डेहरी आॅनसोन (रोहतास), महुआ (वैशाली), रजौली (नवादा), नरकटियागंज (पूर्वी चंपारण), महाराजगंज (सिवान), जयनगर (मधुबनी), जगदीशपुर (भोजपुर), डुमरांव (बक्सर), मसौढ़ी (पटना), पटौरी (समस्तीपुर), बनमनखी (पूर्णिया), फारबिसगंज (अररिया), सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा), बलिया (बेगूसराय), कहलगांव (भागलपुर) में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. इसकी माॅनिटरिंग रक्षा मंत्रालय के डीआरडीओ द्वारा की जाएगी एवं सिविल और विद्युत संबंधी कार्य राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिककरण के द्वारा कराया जाएगा. साथ ही राज्य के सभी प्राइवेट मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल को अतिशीघ्र ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाने का निर्देश दिया गया है.'