पटना में अभी नहीं सुधरेंगे प्रदूषण के हालात, लगाए जाएंगे नए डिस्प्ले बोर्ड

अशोक घोष के मुताबिक, गाड़ियों से निकले धुएं, निर्माणाधीन इमारतों से निकलने वाली धूल और पटना के ग्रामीण इलाकों में पराली जलाने के कारण ऐसा होता है.

पटना में अभी नहीं सुधरेंगे प्रदूषण के हालात, लगाए जाएंगे नए डिस्प्ले बोर्ड
बिहार में अभी नहीं सुधरेंगे प्रदूषण के हालात. (फाइल फोटो)

पटना: एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) यानी पटना में हवा की गुणवत्ता लगातार गिरती जा रही है. फिलहाल कुछ दिनों तक पटना के ऐसे ही हालात रहेंगे. बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के अध्यक्ष अशोक घोष के मुताबिक, ठंड शुरू होते ही वायु की गुणवत्ता में गिरावट शुरू हो जाती है. ऐसा पिछले कई वर्षओं से हो रहा है. 

अशोक घोष के मुताबिक, गाड़ियों से निकले धुएं, निर्माणाधीन इमारतों से निकलने वाली धूल और पटना के ग्रामीण इलाकों में पराली जलाने के कारण ऐसा होता है. अशोक घोष के मुताबिक, पटना में जल्द ही चार नए डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे. ये डिस्प्ले बोर्ड पटना के इको पार्क,बीआईटी कैंप,दानापुर और पटना सिटी में स्थापित होंगे. 

15 दिसंबर तक ये काम पूरा हो जाएगा. अशोक घोष के मुताबिक बिहार में सभी 38 जिलों में डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाने की योजना है. बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पार्षद अध्यक्ष अशोक घोष ने कहा है कि अभी हवा की गुणवत्ता में सुधार नहीं होगी. जाड़े की वजह से ऐसा पिछले कई सालों से हो रहा है.

उन्होंने कहा कि गाड़ियों से निकले धुंए, खेतों में पराली और निर्माणाधीन इमारत से निकली धूल से ऐसा हो रहा है, प्रदूषण पर निगरानी के लिए पटना में चार जगहों पर डिस्प्ले बोर्ड लगेंगे. इको पार्क, बीआईटी पटना और दानापुर में डिस्प्ले बोर्ड लगेगा. 15दिसंबर तक डिस्प्ले बोर्ड लगा दिए जाएंगे. बिहार के सभी 38 जिलों में भी डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे