close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तेजप्रताप ने कहा- मैं राहुल गांधी के साथ हूं, अध्यक्ष रहते हुए उन्हें चुनौतियों का सामना करना चाहिए

लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद सियासी गहमागहमी तेज हो गई है. 

तेजप्रताप ने कहा- मैं राहुल गांधी के साथ हूं, अध्यक्ष रहते हुए उन्हें चुनौतियों का सामना करना चाहिए
.(फाइल फोटो)

पटना: लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद सियासी गहमागहमी तेज हो गई है. इस बीच, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अध्यक्ष पद पर रहकर चुनौतियों का सामना करने की सलाह दी है. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र तेजप्रताप ने मंगलवार के राहुल गांधी के अध्यक्ष पद पर बने रहने का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, "कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी का मैं समर्थन करता हूं. उन्हें पार्टी अध्यक्ष पद पर बने रहते हुए सामने आईं चुनौतियों का सामना करना चाहिए.

देश को आपके जैसे युवा नेतृत्व की जरूरत है." इस ट्वीट के साथ तेजप्रताप ने 'आई सपोर्ट राहुल गांधी' हैशटैग का इस्तेमाल किया है. इससे पहले राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने राहुल के इस्तीफे के फैसले को आत्मघाती कहा है. चारा घोटाले के कई मामलों में झारखंड की रांची जेल में सजा काट रहे लालू प्रसाद ने मंगलवार को ट्वीट किया कि राहुल गांधी का इस्तीफा भाजपा के जाल में फंसने जैसा होगा.

उन्होंने कहा, "राहुल गांधी का कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ने का प्रस्ताव न केवल उनकी पार्टी के लिए आत्मघाती होगा, बल्कि यह उन सभी सामाजिक और राजनैतिक ताकतों के लिए भी झटका होगा, जो संघ परिवार के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं." उन्होंने अपने ट्वीट के साथ एक अंग्रेजी समाचार पत्र का लिंक भी पोस्ट किया है, जिसमें लालू के साथ बातचीत के अंश प्रकाशित हैं.

उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद फिलहाल रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं. गौरतलब है कि बिहार में भी लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस, राजद सहित विपक्षी दलों के महागठबंधन को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी है. महागठबंधन की ओर से कांग्रेस को राज्य की 40 में से सिर्फ एक सीट मिली है, जबकि राजद का सूपड़ा साफ हो गया है.

इनपुट भाषा से भी