close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RJD नेता असरफ फातमी की चेतावनी, 18 अप्रैल तक नहीं लिया फैसला तो भुगतना होगा अंजाम

आरजेडी नेता अली असरफ फातमी ने पार्टी छोडने के संकेत दिए है.

RJD नेता असरफ फातमी की चेतावनी, 18 अप्रैल तक नहीं लिया फैसला तो भुगतना होगा अंजाम
अली असरफ फातमी ने आरजेडी छोड़ने के संकेत दिए हैं.

पटनाः आरजेडी नेता अली असरफ फातमी ने पार्टी छोडने के संकेत दिए है. वहीं, फातमी ने 18 अप्रैल को मधुबनी सीट से नॉमिनेशन करने का दावा किया है. फातमी ने कहा है कि 18 अप्रैल से पहले आरजेडी अगर फैसला नहीं लेती है तो उनके लिए दूसरी पार्टी का भी विकल्प खुला हुआ है. साथ ही यह भी कहा है कि अगर कांग्रेस शकील अहमद को सिंबल दे देती है तो वो चुनाव नहीं लड़ेंगे.
 
आरजेडी के लिए सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. एक तरफ तेजप्रताप पार्टी के लिए मुसीबत बने हुए हैं. वहीं दूसरी तरफ पार्टी के सीनियर लीडर अली असरफ फातमी ने खुलकर बगावत कर दी है. फातमी ने कहा है कि 18 अप्रैल को वो मधुबनी सीट से नॉमिनेशन करेंगे. फातमी ने आरजेडी को छोड़ दूसरी पार्टी से चुनाव लड़ने के संकेत दिये हैं. फातमी ने कहा है कि 18 अप्रैल से पहले अगर आरजेडी ने कोई फैसला नहीं लिया तो अपना फैसला लेने के लिए मजबूर होंगे.

पार्टी की ओर से मधुबनी सीट महागठबंधन में वीआईपी पार्टी को दिये जाने से नाराज अली असरफ फातमी ने कहा है कि लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव ने इस सीट पर चुनाव की तैयारी करने के लिए उनसे कहा था. लेकिन अचानक क्या हो गया किसकी साजिश हो गयी उन्हें नहीं मालूम है. 

फातमी ने कहा कि अगर उनका पार्टी से अलग चुनाव लड़ने का फैसला हुआ तो पार्टी को पूरे बिहार में इसका खामियाजा भुगतना पर सकता है. मैं पार्टी का बड़ा मुस्लिम चेहरा हूं और आरजेडी के इस फैसले से मुस्लिम समाज काफी रोष है. 

हालांकि फातमी ने बगावत रोकने के लिए महागठबंधन को एक और विकल्प दिये हैं. फातमी ने कहा है कि अगर कांग्रेस शकील अहमद को मधुबनी सीट के लिए सिंबल देती है तो वो चुनाव नहीं लडेंगे. वहीं फातमी ने अपने बेटे आरजेडी विधायक फराज फातमी के सियासी भविष्य को लेकर कहा कि फराज अपनी सियासत के लिए स्वतंत्र हैं. वो अपना फैसला खुद ले सकते हैं.