close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस ने यूपी में 80 सीटों पर चुनाव लड़ने किया ऐलान, आरजेडी को भी मिल सकता है मौका

 कांग्रेस ने यूपी के सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. माना जा रहा है कि आरजेडी को भी यूपी में चुनाव लड़ने का मौका मिल सकता है.

कांग्रेस ने यूपी में 80 सीटों पर चुनाव लड़ने किया ऐलान, आरजेडी को भी मिल सकता है मौका
यूपी में कांग्रेस के साथ आरजेडी को चुनाव लड़ने का मौका मिल सकता है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः यूपी में सपा-बसपा के गठबंधन के ऐलान के बाद कांग्रेस ने भी बड़ी घोषणा कर दी है. जहां एक ओर सपा-बसपा ने 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. वहीं, अब कांग्रेस ने यूपी के सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. ऐसे में अब कयास लगाए जा रहे हैं कि आरजेडी को भी यूपी में चुनाव लड़ने का मौका मिल सकता है.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने रविवार को घोषणा करते हुए कहा कि यूपी में पार्टी सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. उन्होंने कहा कि हमारी तैयारी सभी सीटों पर पूरी हो गई है. और हम 2009 के चुनाव से दोगुनी सीटों पर जीत दर्ज करेंगे. वहीं, उन्होंने कहा कि अब हमें किसी दल से गठबंधन करने की जरूरत नहीं है. हालांकि उन्होंने कहा कि कोई धर्मनिरपेक्ष दल उनके साथ आना चाहें तो आ सकते हैं.

ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि आरजेडी को कांग्रेस के साथ यूपी में एंट्री मिल सकती है. बिहार में आरजेडी के साथ कांग्रेस का गठबंधन है और तेजस्वी यादव ने भी कहा है कि वह महागठबंधन में ही चुनाव लड़ेंगे. ऐसे में कांग्रेस यूपी में आरजेडी को भी मौका दे सकती है. क्यों कि आरजेडी पहले भी यूपी में चुनाव लड़ चुकी है.

तेजस्वी यादव सोमवार को लखनऊ पहुंच रहे हैं. बताया जा रहा है कि वह अखिलेश यादव और मायावती से मुलाकात करेंगे. उन्होंने खुद कहा है कि वह दोनों से मुलाकात करेंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि वह अखिलेश और मायावती को आगामी चुनाव को लेकर गठबंधन की बधाई देंगे. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि वह गठबंधन को लेकर भी बात कर सकते हैं.

सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं करने के बाद से बिहार में महागठबंधन के नेता इसे सही नहीं मान रहे हैं. उनका कहना है कि इससे बीजेपी को फायदा मिल सकता है. ऐसे में तेजस्वी यादव कांग्रेस को भी गठबंधन में शामिल करने की कवायद कर सकते हैं. हालांकि तेजस्वी यादव ने इस बारे में कुछ नहीं कहा है.

तेजस्वी यादव शुरू से ही महागठबंधन को बनाने और मजबूत करने की कवायद में जुटे हुए हैं. इससे पहले भी उन्होंने अपने कार्यक्रमों में सभी दलों को एक साथ लाने का प्रयास किया है.