close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः लालू यादव की बेटी मीसा भारती ने पाटलिपुत्र से ठोकी ताल! विरोध में उतरे RJD कार्यकर्ता

मीसा भारती को बिक्रम में एक कार्यक्रम के दौरान आरजेडी कार्यकर्ताओं का विरोध झेलना पड़ा.

बिहारः लालू यादव की बेटी मीसा भारती ने पाटलिपुत्र से ठोकी ताल! विरोध में उतरे RJD कार्यकर्ता
मीसा भारती को अपने कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं का विरोध झेलना पड़ा.

पटनाः आरजेडी के अंदर पाटलिपुत्र लोकसभा सीट को लकेर पहले से ही खींचतान चल रहा है. आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की बेटी मीसा भारती एक बार फिर पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का मन बना लिया है. इसके लिए उन्होंने तैयारियां भी शुरू कर दी है. वहीं, इस सीट पर आरजेडी के नेता भाई वीरेंद्र भी दावा कर रहे हैं. ऐसे में दोनों गुटों के बीच पहले से ही राजनीति चल रही है. वहीं, बुधवार को मीसा भारती के विरोध में उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता खड़े हो गए.

दरअसल, मीसा भारती बुधवार को बिक्रम में एक सभा करने पहुंची थी. जहां उन्होंने अपने कार्यक्रम में स्थानीय कार्यकर्ताओं को नहीं बुलाया. यहां तक की स्थानीय विधायक का नाम भी पोस्टर में लगाया नहीं गया था. इससे कार्यकर्ताओं में मीसा भारती के प्रति नाराजगी है.

कार्यकर्ताओं का कहना है कि वह स्थानीय स्तर पर पार्टी के लिए काम करते हैं. लेकिन उन्हें कार्यक्रम में निमंत्रण तक नहीं दिया गया है. वहीं, हमलोगों से किसी तरह की राय तक नहीं ली जाती है. वहीं, पाटलिपुत्र सीट पर मीसा भारती इशारों में ही लगातार ताल ठोक रही है. चुनावी तैयारियों में जुट गई है. लेकिन पाटलिपुत्र सीट पर अब गुटबाजी भी शुरू हो गई है.

वहीं, मीसा भारती ने कार्यकर्ताओं की इस नाराजगी पर कहा कि उन्हें किसी तरह की गुटबाजी नहीं करनी चाहिए. अभी सीट शेयरिंग और सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला नहीं हुआ है. इसका फैसला पार्टी अध्यक्ष करेंगे. कोई भी उम्मीदवार पार्टी अध्यक्ष के फैसले से पहले कोई दावेदारी न करें तो अच्छा होगा.

वहीं, आरजेडी के अंदर घमासान पर बीजेपी चुटकी ले रही हैं. बीजेपी नेता महेश्वर हजारी ने कहा कि आरजेडी पार्टी परिवार तक ही सीमित है. यह आम जनता और आम कार्यकर्ताओं की पार्टी नहीं है. बीजेपी नेता ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा कि लालू यादव के जाने के बाद पूरी पार्टी बिखर गई है. परिवार में भी बिखराव आ गया है.