close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा- 'कांग्रेसी और सहयोगी दलों के षड्यंत्रों से हारी पार्टी'

धीरज ने कांग्रेस और राहुल गांधी की हार के लिए नरेंद्र मोदी से ज्यादा कांग्रेसियों और सहयोगी दलों के षडयंत्र को जिम्मेदार ठहराया है.

बिहार: कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा- 'कांग्रेसी और सहयोगी दलों के षड्यंत्रों से हारी पार्टी'
पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज ने बड़ा बयान दे दिया है.

पटना: बिहार कांग्रेस के नेताओं के बीच हार को लेकर मंथन का दौर जारी है. इसी बीच पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज ने बड़ा बयान दे दिया है. धीरज ने कांग्रेस और राहुल गांधी की हार के लिए नरेंद्र मोदी से ज्यादा कांग्रेसियों और सहयोगी दलों के षडयंत्र को जिम्मेदार ठहराया है. धीरज ने ये कहकर सियासी हंगामा मचा दिया है कि बिहार कांग्रेस को 4 लोगों की टीम ने हरा दिया. टिकट और सीट बंटवारे में जमकर खरीद बिक्री का भी आरोप धीरज ने लगाया है.

बिहार कांग्रेस के नेताओं ने हार की जिम्मेदारी तय करने के लिए मंथन शुरु कर दिया है . पार्टी के वरिष्ठ नेता कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज ने हार के लिए जिन तर्कों का सहारा लिया है वो चौकाने वाला है. धीरज ने कांग्रेस और राहुल गांधी की हार के लिए नरेंद्र मोदी से ज्यादा कांग्रेसियों और सहयोगी दलों के षडयंत्र को जिम्मेवार ठहराया है.

 

कांग्रेस नेता ने कहा है कि बीजेपी के खिलाफ अभियान चलाने का दावा करनेवाले विपक्षी दलों ने राहुल गांधी के खिलाफ ही षडयंत्र कर दिया. इतना ही नहीं जो सहयोगी दल के नेता जो राहुल गांधी को इस्तीफा नहीं देने की सलाह दे रहे हैं उन्होंने भी राहुल गांधी के खिलाफ षडयंत्र कर दिया. धीरज ने इशारों ही इशारों में लालू प्रसाद पर निशाना साधा.

धीरज ने कहा है कि वो ये भूल गए कि आज विपक्ष के जिन क्षेत्रीय दलों की दुकानदारी चल रही है, वो कांग्रेस और राहुल गांधी की वजह से ही है. राहुल गांधी अगर नहीं रहे तो पूरे देश से क्षेत्रीय दल और विपक्ष का नामों निशान मिट जाएगा.

बिहार में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर श्याम सुंदर सिंह धीरज ने कहा कि प्रभारी समेत 4 लोगों की टीम ने कांग्रेस पार्टी को डुबा दिया. सीट और टिकट बंटवारे में जमकर दलाली की गई. किसी भी कार्यकारी अध्यक्ष को राहुल गांधी से मिलने नहीं दिया गया. आलाकमान को अंधेरे में रखा गया. धीरज ने वीआईपी आरएलएसपी समेत सहयोगी दलों पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस को कमजोर करने के लिए उन लोगों को सीट दे दी गयी जो मुंबई से 4 दिन पहले आया था. जो ब्लॉक अध्यक्ष होने लायक था उसे तीन से 5 पार्लियामेंट की सीटें दे दी गईं.

कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष ने तेजस्वी यादव के बयान को लेकर भी तल्खी दिखायी है. धीरज ने कहा है कि तेजस्वी गलतफहमी में न रहें कि राहुल गांधी बिना स्टेट कांग्रेस के नेताओं की राय के बिना ही अब कोई फैसला ले लेंगे. धीरज ने कहा कि राहुल गांधी अभी जिस मूड में हैं वो प्रदेश के एक-एक ब्लाक के कार्यकर्ता से राय लेकर ही कोई फैसला लेंगे. 

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने बुधवार को हार की समीक्षा के लिए महागठबंधन दलों की बैठक बुलाई थी. बिहार कांग्रेस के नेताओं ने बैठक का बहिष्कार कर दिया था . जिसके बाद तेजस्वी ने ये कहा था कि प्रदेश कांग्रेस कमिटि के नेता क्यों सोचते हैं इससे कोई फर्क नहीं पडता. वो सीधा राहुल गांधी सोनिया गांधी और अहमद पटेल के संपर्क में हैं .  

इधर, कांग्रेस की ओर से लगातार जारी हमलों के बीच आरजेडी ने बडी सधी हुई प्रतिक्रिया दी है. पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्क्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि लोग हार के कारण थोडी खीज में हैं. इसलिए नेताओं के अलग अलग बयान आ रहे हैं. थोडे दिनों में सब ठीक हो जाएगा. आरजेडी नेता ने कहा है कि वैसे भी ताली एक हाथ से नहीं बजती है ऐसा नहीं है कि हम अकेले एक हाथ से ताली बजाते रहेंगे. साथ रहने और न रहने पर कोई फैसला होने में अभी वक्त है .