बिहार: मोतिहारी-नेपाल सीमा पर पकड़ा गया संदिग्ध ईरानी, 11 साल से बिना कागज के रह रहा था

रक्सौल बॉर्डर पर बौद्ध भिक्षु के वेश में एक संदिग्ध ईरानी नागरिक को गिरफ्तारी किया गया है. गिरफ्तार ईरानी नागरिक पिछले 11 साल से भारत मे बिना किसी वैध कागजातों के बोधगया में रह रहा था.

बिहार: मोतिहारी-नेपाल सीमा पर पकड़ा गया संदिग्ध ईरानी, 11 साल से बिना कागज के रह रहा था
गिरफ्तार ईरानी नागरिक पिछले 11 साल से भारत मे बिना किसी वैध कागजातों के बोधगया में रह रहा था.

मोतिहारी: बिहार में भारत-नेपाल सीमा के रक्सौल बॉर्डर पर बौद्ध भिक्षु के वेश में एक संदिग्ध ईरानी नागरिक को गिरफ्तारी किया गया है. गिरफ्तार ईरानी नागरिक पिछले 11 साल से भारत मे बिना किसी वैध कागजातों के बोधगया में रह रहा था.

इमीग्रेशन विभाग ने उसे रक्सौल बॉर्डर पर भारत से नेपाल जाने के दौरान दबोचा है. पकड़े गए संदिग्ध शख्स से खुफिया एजेंसी पूछताछ में जुटी है. पकड़ा गया ईरानी नागरिक का नाम हामेद अकबरी है, जो ईरान के तेहरान शहर का रहने वाला है.

11 साल पहले ईरान से एक महीने की वीजा पर भारत आया था. लेकिन वीजा की अवधि खत्म होने के बाद उसने न तो वीजा एक्सटेंशन कराया और न ही वापस ईरान गया. और बौद्ध सन्यासी बनकर गया में रहने लगा.

हामेद अकबरी हिंदी भाषा भी आसानी से बोल लेता है. इसके पास से पासपोर्ट, यूएनएचआरसी का कार्ड और बैग में कुछ किताब बरामद किया गया है.